क्या कार्बोहाइड्रेट का सेवन करने से वजन बढ़ता है

how carbohydrates make you gain weight

हमारे शरीर को दिनभर की गतिविधि करने के लिए ऊर्जा की जरुरत होती है और हमारा शरीर उर्जा का उत्पादन तब ही कर पाता है जब हम कार्बोहाइड्रेट का प्रुचुर मात्रा में सेवन करते हैं। कार्बोहाइड्रेट दो तरह के होते हैं, पहला है सिंपल कार्ब्स और दूसरा कॉम्प्लेक्स कार्ब्स। यह आपके भोजन की रासायनिक बनावट पर निर्भर करता है कि उसमें किस तरह के कार्बोहाइड्रेट्स मौजूद हैं। आपके शरीर के लिए कार्बोहाइड्रेट्स का सेवन जरुरी है लेकिन इसके सेवन से आपका वजन भी बढ़ सकता है, खासतौर पर सिंपल कार्ब्स के सेवन से। आइए जानते हैं कि कार्बोहाइड्रेट का सेवन करने से कैसे वजन बढ़ता है। [ये भी पढ़ें: क्या प्रोटीन शेक वजन बढ़ाने में मदद करते हैं]

सिंपल कार्ब्स के सेवन से कैसे बढ़ता है वजन: चीनी, कैंडी, कुछ सीरप, चॉकलेट, पेस्ट्री, केक, सफेद चावल और अतिरिक्त शुगर से बने खाद्य पदार्थ आदि में सिंपल कार्बोहाइड्रेट मौजूद होते हैं। सिंपल कार्बोहाइड्रेट्स में ग्लूकोज के छोटे मोलिक्यूल होते हैं जिन्हें पचाना आसान होता है इसलिए ये आसानी से रक्त में प्रवेश कर जाते हैं। जैसे ब्लड शुगर का स्तर बढ़ता है तो अतिरिक्त शुगर को नियंत्रित करने के लिए इंसुलिन रिलीज होता है जो इसे उर्जा में बदलने के लिए सेल्स को भेजता है। शुगर का स्तर अत्यधिक हो जाने पर इंसुलिन इसे नियंत्रित करने में असमर्थ हो जाता है और इंसुलिन लीवर को संदेश भेजता है कि वह शुगर को फैट के रुप में स्टोर कर लें। इस तरह आपका वजन बढ़ने लगता है। इससे भी बुरी स्थिति में इंसुलिन फैट सेल्स को संदेश भेजता है कि वो पहले से स्टोर फैट को तोड़ना बंद कर दें जिससे आप वजन कम नहीं कर पाते हैं और इस स्थिति में आपके अधिक वजन बढ़ाने की संभावनाएं होती है।

अधिक कार्बोहाइड्रेट्स का सेवन: कार्बोहाइड्रेट्स के सेवन से वजन बढ़ने जब बढ़ता है तब आप कार्बोहाइड्रेट का सेवन अधिक मात्रा में करते हैं। इससे आप दिनभर में कैलोरी खर्च करने की तुलना में अधिक कैलोरी का सेवन करते हैं। किसी भी मैक्रो-न्यूट्रिएंट्स जैसे कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन या वसा में अधिक कैलोरी होने के कारण आपका वजन बढ़ सकता है। कार्ब्स के सेवन से ऐसी संभावनाएं अधिक होती है क्योंकि बहुत से कार्ब्स वाले फूड जैसे स्नैक्स, मिठाई और पसंदीदा खाद्य पदार्थ में कैलोरी की मात्रा उच्च हैं।  [ये भी पढ़ें: कम सोने के कारण कैसे बढ़ता है वजन]

वॉटर रिंटेशन के कारण वजन बढ़ना: सामान्य तौर पर जो लोग जिम या व्यायाम के दौरान अधिक मेहनत करते हैं उन्हें अधिक स्टेमिना की जरुरत होती है। इसके कारण डायटिशियन उन्हें अधिक कार्बोहाइड्रेट का सेवन करने की सलाह देते हैं। हालांकि डायटिशियन का मानना है कि हाई कार्ब्स वाली डाइट लेने से वॉटर रिटेंशन की समस्या हो सकती है। वॉटर रिटेंशन के कारण भी आपका वजन बढ़ने की संभावनाएं होती है। कार्ब्स का सेवन कम करने से आपका शरीर ग्लाइकोजेन को बर्न करता है जिसमें पानी की मात्रा अधिक होती है। इससे आप यूरिनेशन अधिक होता है जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है।

कॉम्प्लेक्स या स्टार्ची कार्ब्स का सेवन है बेहतर: सिंपल कार्ब्स आपके ब्लड शुगर के स्तर को बहुत जल्दी बढ़ाते हैं और आपको अस्थायी उर्जा देते हैं। सिंपल या शुगर कार्ब्स से उत्पादित उर्जा ज्यादा समय के लिए नहीं चल पाती और आपको थोड़े समय बाद ही भूख लगने लगती है। कॉम्प्लेक्स और स्टार्ची कार्ब्स का सेवन इससे बेहतर विकल्प है क्योंकि ये आपको जल्दी भरा-भरा महसूस नहीं कराते हैं और इनके सेवन से उत्पादित उर्जा अधिक समय तक रहती है। हालांकि इन्हें पचाने में आपका शरीर सिंपल कार्ब्स के मुकाबले अधिक समय लेता है लेकिन साथ ही इनके सेवन से आपका वजन नहीं बढ़ता है। [ये भी पढ़ें: इन अजीबो-गरीब कारणों से बढ़ता है आपका वजन]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "