स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज जिन्हें वर्कआउट से पहले नहीं करना चाहिए

Which stretches you should never practice before workout

वर्कआउट से पहले कुछ स्ट्रेचिंग प्रेक्टिस नहीं करनी चाहिए।

स्ट्रेचिंग शरीर के लिए अच्छी होती है। अगर वर्कआउट करने से पहले और बाद में आप स्ट्रैचिंग करते हैं तो यह आपके शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होता है। स्ट्रेचिंग मसल्स की थकान को कम करती है। जब आप वर्कआउट करने के बाद स्ट्रेचिंग करते हैं तो आपकी मसल्स में गर्माहट आ जाती है जिससे रक्त संचरण बढ़ जाता है। लेकिन हर एक्सरसाइज को करने का सही समय और सही तरीका होता है। अगर आप वर्कआउट से पहले और बाद में गलत स्ट्रेचिंग करते हैं तो यह आपके लिए हानिकारक हो सकता है क्योंकि इससे मसल्स की ताकत कम हो जाती है। इसलिए आइए जानते हैं कि वर्कआउट के पहले कौनसी स्ट्रेचिंग नहीं करनी चाहिए। [ये भी पढ़ें: हर रोज जिम जाने के बाद भी आपका वजन क्यो नहीं घट रहा है]

वर्कआउट से पहले ना करें ये स्ट्रेच:

  • हेमस्ट्रिंग स्ट्रेच
  • फॉरवर्ड फोल्ड स्ट्रेच
  • स्टैंडिंग आइसोलेट क्वाड स्ट्रेच
  • फिगर फॉर स्ट्रेच

हेमस्ट्रिंग स्ट्रेच

इस स्ट्रेच में आपको अपना एक पैर सतह पर रखना होता है लेकिन ध्यान रहे कि कूल्हे के सामान्तर पैर रखना होता है। इसके लिए आप छोटी स्टूल का सहारा लेना चाहिए। अब पैर को बिना मोड़े आगे की तरफ झुकना होता है। इस स्ट्रेचिंग के कारण घुटने के पिछले हिस्से में जलन होने लगती है और ना ही इससे वर्कआउट करने के लिए शरीर को जरुरी लचीलापन मिलता है। इसलिए वर्कआउट के पहले आप ये स्ट्रेचिंग ना करें।

2.फॉरवर्ड फोल्ड स्ट्रेच

इस स्ट्रेचिंग प्रेक्टिस करने के लिए जमीन पर सीधे खड़े होकर पैरों को सीधा रखना चाहिए और आगे कि तरफ झुक कर हथेलियों से जमीन को छूना होता है। लेकिन वर्कआउट से पहले आपको यह स्ट्रेचिंग नहीं करनी चाहिए क्योंकि इससे आपकी ताकत कम हो जाती है साथ ही माइक्रोटियर इंजरी होने की संभावना भी रहती है। इसलिए वर्कआउट से पहले इसे ना करें। बॉडी स्ट्रेचिंग के लिए कौन से एक्सरसाइज कर सकते हैं, जानने के लिए क्लिक करें।

3. स्टैंडिंग आइसोलेट क्वाड स्ट्रेच

जमीन पर सीधा खड़ा होकर बांये पैर को पीछे की तरफ कूल्हे तक ले जाएं। अब बायें हाथ को पीछे ले जाकर पैर को पकड़ें। इससे आपको पैरों में खिंचाव महसूस हो सकता है। इस स्ट्रेच को करते वक्त लोग अक्सर गलतियां कर बैठते हैं जिससे घुटने के जोड़ों पर ज्यादा तनाव बढ़ जाता है और आप अच्छे से वर्कआउट नहीं कर पाते हैं।

4. फिगर फॉर स्ट्रेच

इस स्ट्रेच को करते समय पीठ के बल लेट जाएं और अब अपनी एड़ी को दूसरे पैर के घुटने के ऊपर रखें। अब अपनी जांघों के पिछले हिस्से को उठाएं। वर्कआउट के पहले इस स्ट्रेच का अभ्यास करना सही नहीं होता है क्योंकि उस समय आपके कूल्हों का मोशन सही नहीं होता है और कूल्हों के पास के जोड़ों में लचीलापन नहीं होता है। [ये भी पढ़ें: चोट लगने के बाद वापस जिम जाना कैसे शुरु करें]

इन स्ट्रेच को वर्कआउट से पहले ना करें। इस आर्टिकल को इंग्लिश में पढ़ने के लिए क्लिक करें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "