क्या है फलों के सेवन करने का उचित समय

what is the right time to eat fruit

हम सभी जानते हैं कि फल हमारे स्वास्थ्य के लिए कितने आवश्यक हैं। इनके सेवन से हमारे शरीर को जरुरी पोषक तत्व मिलते हैं। साथ ही कई तरह के रोगों से हमारे शरीर को बचाने में मदद करते हैं। आपको लगता होगा कि फल किसी भी रुप में आपके शरीर को नुकसान नहीं पहुंता सकते हैं लेकिन ऐसा तभी होता है जब आप फलों का सेवन सही तरीके और सही समय पर करें। आप सोच रहे होंगे कि फल खाने का भी सही समय होता है क्या। बिल्कुल, अगर आप फलों का सेवन सही समय पर नहीं करते हैं तो आपका शरीर इनके पोषक तत्वों को अवशोषित नहीं कर पाता है। कई बार यह सवाल भी होता है कि खाने के बाद फल खाने चाहिए या नहीं। तो आइए जानते हैं क्या है फलों का सेवन करने का उचित समय। [ये भी पढ़ें: जानिए डायटिंग के लिए क्या सलाह देते हैं जिम ट्रेनर]

भोजन के बाद फलों का सेवन नहीं: कच्चे फल डाइटरी फाइबर से भरपूर होते हैं और इनमें प्राकृतिक शुगर भी मौजूद होती है। इन्हें पचाने और अवशोषित करने के लिए अधिक समय की आवश्यकता होती है। जब अन्य खाद्य पदार्थों के साथ फलों का सेवन किया जाता है (जैसे भोजन के बाद) तो पाचन की प्रक्रिया में देरी हो जाती है। इसके कारण आपको पेट फूलने, गैस, जलन और अन्य पाचन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

सुबह में या मिड-मॉर्निंग स्नैक्स के तौर पर करें फलों का सेवन:
what is the right time to eat fruitफलों का सेवन करने का सबसे उचित समय है दिन की शुरुआत। आप खाली पेट एक गिलास पानी पीकर फलों का सेवन करें। इसके अलावा आप मिड-मॉर्निंग स्नैक्स के तौर पर फल खा सकते हैं। ब्रेकफास्ट और लंच के बीच में फलों का सेवन करने से आप शरीर को उर्जा दे पाते हैं और आपको लंच और ब्रेकफास्ट के बीच में अधिक समय मिल जाता है। साथ ही इस समय फलों से पोषक तत्वों का अवशोषण भी हो पाता है। लंच से एक घंटे पहले फलों का सेवन कर सकते हैं। [ये भी पढ़ें: टॉयलेट में फोन का इस्तेमाल करना पड़ सकता है महंगा, जानें क्यों]

सोने से पहले फलों का सेवन ना करें: रात को सोने के समय से पहले फलों का सेवन करने से बचें क्योंकि फलों में मौजूद शुगर आपके शरीर में उर्जा के लेवल को बढ़ाती है और इसके कारण आप अलर्ट हो जाते हैं जिससे नींद नहीं आती।

जरुरत से अधिक फलों का सेवन भी उचित नहीं:
what is the right time to eat fruitफलों को अधिक मात्रा में सेवन करना भी उचित नहीं है क्योंकि फलों में भी कैलोरी होती है जो अन्य कैलोरी वाले खाद्य पदार्थों का साथ मिलकर दोगुना हो जाती हैं और आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर डाल सकती है। जिस तरह अन्य खाद्य पदार्थ फलों को प्रभावी ढंग से पचने से रोकते हैं इसी तरह फलों का अधिक सेवन भी अन्य आहार जैसे सब्जी, साबुत अनाज, मांस और कम वसा वाले डेयरी खाद्य पदार्थ आदि के पोषण अवशोषण को रोक सकता है। [ये भी पढ़ें: स्वास्थ्य और फिटनेस के ये मिथक जिनपर आपको नहीं करना चाहिए विश्वास]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "