कैलोरी घटाने का असरदार तरीका है किक-बॉक्सिंग

Read in English
try cardio kick boxing for weight loss

कार्डियो के नियमित अभ्यास से हमारा हृदय सुचारू रूप से काम करता है और साथ ही साथ इसके जरिए बॉडी मसल्स को भी सही शेप में लाया जा सकता है। कार्डियो से हमारे दिल की धड़कने करीबन 50 प्रतिशत तक बढ़ जाती है जिससे शरीर की कोशिकाओं में ऑक्सीजन को पहुंचने में आसानी होती है। कार्डियो किक-बॉक्सिंग, कार्डियो एक्सरसाइज का ही एक रूप है जिसमें कार्डियो के साथ किक जैसे मूवमेंट का इस्तेमाल किया जाता है। इस एक्सरसाइज में शरीर का कोई एक हिस्सा नहीं बल्कि इसको करने के दौरान शरीर का हर भाग मूवमेंट में होता है। जो शरीर को लचीला बनाने का काम भी करता है। [ये भी पढ़ें: बिना कार्डियो के इन तरीकों से बनाये क्लियर एब्स और पैक्स]

कार्डियो किकबॉक्सिंग क्या है:कार्डियो किक-बॉक्सिंग एक्सरसाइज के दौरान संगीत की धुन पर पन्चेस, किक्स और नी स्ट्राइक(घुटने से मारना) जैसे मूवमेंट को बहुत ही तेजी से किया जाता है। कार्डियो किकबॉक्सिंग को अलग-अलग तरह के पंच(punches) का एक कॉम्बिनेशन कहा जा सकता है। इनमें शामिल हैं-

  • शरीर के उपरी भाग के मूवमेंट-जैब्स, क्रॉस, हुक, अपरकट्स।
  • शरीर के निचले भाग के मूवमेंटस भी शामिल हैं, जैसे- नी स्ट्राइक, फ्रंट किक, राउंडहाउस किक, साइड किक, बैक किक।

कार्डियो किकबॉक्सिंग एक नॉनकांटेक्ट वर्कआउट है। इसमें किये जाने वाले सभी पंच और किक्स को हवा में या पैड्स पर किया जाता है। यह एक हाई एनर्जी वर्कआउट है। इसको करने के दौरान करीबन एक घंटे में 350 से 450 कैलोरी बर्न किया जा सकता है।  

कार्डियो किकबॉक्सिंग को कैसे किया जाता है: इस तरह के वर्कआउट या एक्सरसाइज के लिए किसी भी प्रकार के एक्सरसाइज टूल की जरूरत नहीं पड़ती है। इसको अकेले या फिर समूह में किया जा सकता है। इसको करने के लिए मैट या फिर फर्श पर आरामदायक मुद्रा में खड़े हो जायें। इसके बाद एक-एक करके पैरों को हवा में हिलाएं, उसके उपरांत कमर से दाएं तरफ मोड़े और फिर बाएं तरफ मोड़े। अब अपने हाथों को मूवमेंट में लायें और इस तरह से हाथों को मूव करें जैसे कि आप बॉक्सिंग कर रहें हों। अपने पैरों से किक करें और हाथों से हवा में पंच करें। इस एक्सरसाइज के दौरान आप गाना भी बजा सकते हैं जिसमें धुन बदलने के साथ-साथ आप अपने मूवमेंट को भी बदल सकते हैं। इसको कम से कम 30 से 45 मिनट तक करना शरीर के लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। ये भी पढ़ें: एट पैक एब्स की चाहत रखते हैं तो करें ये एक्सरसाइज

कौन इस तरह का कार्डियो कर सकता है: कार्डियो किकबॉक्सिंग, शरीर को फिट रखने के लिए और कैलोरी को बर्न करने के लिए एक लाभदायक एक्सरसाइज है। साथ ही साथ इसके जरिए हृदय स्वास्थ और शरीर के मसल्स भी फिट रहते हैं। इसको किसी भी उम्र का व्यक्ति कर सकता है। कार्डियो किकबॉक्सिंग एक लो और हाई इम्पैक्ट इंटेंसिटी वर्कआउट है। जो लोग इस तरह के वर्कआउट को पहली बार कर रहे होते हैं उन्हें इस बात की सलाह दी जाती है कि इस तरह के कार्डियो को धीरे-धीरे करें।

कार्डियो किकबॉक्सिंग के फायदें:
कार्डियो किकबॉक्सिंग एक्सरसाइज़ करने में हमारे शरीर का हर एक हिस्सा इन्वॉल्व होता है जो बॉडी के मसल्स से जुड़ा होता है। कार्डियो किकबॉक्सिंग के दौरान किए जाने वाले रेपिड मूवमेंट से शरीर में लचीलापन आता है और बैलेंस बना रहता है। इसके साथ-साथ यह मानसिक तनाव और डिप्रेशन को भी दूर करने का काम करता है। यह आपके शरीर में उर्जा के स्तर को बढ़ाने का काम भी करता है। इस एक्सरसाइज़ को करने से आपको सुकून भरी नींद आती है।  [ये भी पढ़ें: जानिए कैसे 10 मिनट में करें 100 कैलोरी कम]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "