facts about fat: फैट के बारे में आपको कौन-सी पता होनी चाहिए

things-to-know-more-about-fat

facts about fat: शरीर में फैट बढ़ने के कई कारण होते हैं।

facts about fat: फैट अतिरिक्त कैलोरी होती है जो कि हमारे शरीर में चर्बी के रुप में जमा हो जाती है। फैट सिर्फ मोटापा ही नहीं बढ़ाता बल्कि हार्मोन्स का संतुलन भी बिगाड़ देता है। हार्मोन्स के कारण ही फैट हमारी भूख,मेटाबॉलिज्म, हड्डियों की मजबूती, रिप्रोडेक्टिव ऑर्गन्स,इम्यून सिस्टम और साथ ही दिमाग के विकास पर भी बुरा असर डालता है। शरीर फैट के जमा होने का विरोध करता है लेकिन अनहेल्दी खाना खाने और अनहेल्दी आदतों के कारण फैट शरीर में जमा हो जाता है और मोटापा बढ़ जाता है। आइए जानते है फैट से जुड़ी कुछ चीजों के बारे में जो आपको पता नहीं होती है। [ये भी पढ़ें: Too much belly fat: अत्यधिक बेली फैट होने के नुकसान]

facts about fat:  फैट के बारे में रोचक तथ्य

  • फैट घटाने  से भूख बढ़ती है
  • फैट कम करने से मेटाबॉलिज्म भी कम हो जाता है
  • फैट मूड को प्रभावित करता है
  • फैट रक्त संचरण को भी प्रभावित करता है
  •  बार-बार खाने पर फैट नहीं बढ़ता है

1. फैट घटाने से भूख बढ़ती है-
फैट लेप्टिन हार्मोन का उत्पादन करता है जो कि खून के माध्यम से दिमाग तक पहुंचते हैं और भूख को प्रभावित करते हैं। जब फैट कम होता है तो लेप्टिन का स्तर भी कम हो जाता है जिससे भूख बढ़ जाती है। इसलिए फैट को कम करने के प्रोसेस में भूख बढ़ जाती है और अधिक भूख लगती है।

2. फैट कम करने से मेटाबॉलिज्म भी कम हो जाता है-
फैट का जमा होना इसीलिए शरीर के लिए बुरा माना जाता है क्योंकि फैट के कम होने पर लेप्टिन हार्मोन का स्तर भी कम हो जाता है। लेप्टिन हार्मोन के कम होने से मेटाबॉलिज्मक का स्तर भी कम हो जाता है इसीलिए एक बार चर्बी घटाने के बाद लोगों के दोबारा मोटा होने का खतरा बढ़ जाता है।[ये भी पढ़ें:  मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने के लिए खाद्य पदार्थ ]

3. फैट मूड को प्रभावित करता है-

Things that everyone should know about Fats
facts about fat: फैट के कारण तनाव पैदा हो जाता है।

फैट हैप्पी हार्मोन के स्तर को कम करता है जिससे तनाव बढ़ जाता है। अनहेल्दी फैट मूड को प्रभावित करता है और तनाव व डिप्रेशन का शिकार बना देता है।

4. फैट रक्त संचरण को भी प्रभावित करता है-
शरीर में जमा फैट को भी बने रहने के लिए ऑक्सीजन और पोषक तत्वों की जरुरत होती है। ऐसे में फैट में नई केशिकाएं पैदा हो जाती है जिनसे दिमाग को संकेत जाता है और दिमाग खून के माध्यम से पोषक तत्व, ऑक्सीजन फैट जमा फैट में भेजता है।

5. बार-बार खाने पर फैट नहीं बढ़ता है-
थोड़े-थोड़े अंतराल में खाने से फैट नहीं बढ़ता है और साथ ही भूख भी कम होती है। अगर कोई व्यक्ति लंबे समय तक नहीं खाता है और बाद में खाना खाते हैं तो फैट जमा होने का खतरा अधिक हो जाता है।

[जरूर पढ़ें: Lose belly fat: नींबू पानी बेली फैट को कैसे कम करता है]

फैट कम करने के लिए उपयोगी ये तथ्य हर किसी को पता होने चाहिए।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "