असरदार तरीके जो बना देंगे रनिंग को आसान

these methods will help you to do running easily

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए रनिंग सबसे बेहतर माना जाता है और इसके कई फायदे भी होते हैं। जो लोग दिन में करीबन एक घंटे दौड़ते हैं उनके शरीर से लगभग 500 कैलोरी बर्न हो जाती है। इसके अलावा यह बेली फैट और थाई फैट को कम करने का काम भी करता है और साथ-साथ शरीर को लचीला भी बनाता है। रनिंग करना बहुत ही आसान होता है लेकिन यह उन लोगों के लिए मुश्किल बन जाता है जो लोग कभी-कभी रनिंग करते हैं। रनिंग के समय कई बार चक्कर आना, पेट में अचानक दर्द हो जाना, पैरों में मोच आ जाने जैसी शिकायत होने लगती है इसलिए जरुरी है जब कोई व्यक्ति रनिंग करे तो उससे पहले कुछ खास तरह के बातों का ठीक से ध्यान रखें। [ये भी पढ़ें: समय की कमी है तो करें कम समय में किये जाने वाले ये एक्सरसाइज]

शरीर में पानी और अन्य पोषक तत्वों की मात्रा को कम न होने दें:
these methods will help you to do running easily

हाई इंटेंसिटी वर्कआउट या रनिंग से पहले अपने आप को शारीरिक रूप से तैयार करना बहुत जरुरी होता है। इसके लिए शरीर में पानी की कमी को न होने दें, साथ-साथ प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, गुड फैट से युक्त भोजन का सेवन करें। ऐसा करना जरुरी है क्योंकि रनिंग के समय शरीर में सबसे ज्यादा ऊर्जा की खपत होती है। ऐसे में यदि शरीर में पर्याप्त ऊर्जा न होने पर बहुत ज्यादा थकान और शरीर में बहुत अधिक दर्द भी होता है। ज्यादा लम्बी दूरी की रनिंग के लिए कार्बोहाइड्रेट और इलेक्ट्रोलाइट्स से युक्त पेय का सेवन जरुरी है। जिसमें कार्बोहाइड्रेट और इलेक्ट्रोलाइट्स की मात्रा 30 से 40 ग्राम हो और आधा लीटर पानी की मात्रा हो।

अपने तकनीक पर ध्यान दें:
these methods will help you to do running easily

सही तकनीक द्वारा रनिंग करने से जोड़ों के बीच होने वाले तनाव को कम किया जा सकता है। ज्यादा दूर की रनिंग के लिए लॉगिंग टाइम और दूरी का ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है। ऐसे में गति इतनी ज्यादा जरुरी नहीं होती है। अगर कोई बहुत अच्छा रनर (धावक) है तो उसकी गति अपने आप बढ़ जाती है इसलिए जरुरी यह है कि सबसे पहले रनिंग के सही तरीके पर ध्यान दें। काफी लोग सिर्फ तेजी पर ध्यान देते हैं न की उसके सही तकनीक पर। सही तकनीक से करने के लिए अपने कंधों को एकदम ढीला छोड़ दें और अपने कोहनियों को 90 डिग्री के कोण पर सीधा रखें। अपने हाथों को आगे की तरफ रखकर रनिंग करें।  [ये भी पढ़ें: आप जिम जानें की सोच रहें हैं, तो जरूर रखें इन बातों का ध्यान]

अपनी सांसों पर नियंत्रण रखें:

कई बार यह पाया गया है कि दौड़ते समय लोगों की सांसे फूलने लगती है जो उनके रनिंग में बाधा बनने का बहुत बड़ा कारण बन जाती है। लंबी दूरी की रनिंग के लिए सबसे जरुरी यह है कि व्यक्ति अपने श्वास तंत्र पर नियंत्रण करना जानना चाहिए। जो लोग एरोबिक के किसी भी रूप में करते हैं उनके शरीर में ऑक्सीजन का बहाव काफी अच्छे से होता है। इसके साथ-साथ यह अपने दिल की धड़कनों को नियंत्रित करने और श्वास की दर को भी नियंत्रित करने के काम में आता है। ठीक ऐसा ही दौड़ते समय करें और दो लंबे कदमों के बाद गहरी सांस लें। इससे श्वसन तंत्र में होने वाला तनाव कम होता है और सांसें भी नियंत्रित रहती है।

छोटे कदमों से चलें:

ज्यादातर लोग रनिंग के समय बहुत लम्बें कदम भरते हैं जिसके कारण उनका सारा भार उनके एड़ी पर पड़ता है जिससे शरीर की सारी ऊर्जा बहुत जल्दी ही खत्म हो जाती है। इससे बचने के लिए इस बात का ध्यान रखें कि रनिंग के समय छोटे-छोटे कदमों का इस्तेमाल करें। इससे दो फायदे होंगे एक तो शरीर की ऊर्जा जल्दी खत्म नहीं होगी और दूसरा ज्यादा से ज्यादा समय तक रनिंग किया जा सकेगा।

रनिंग के समय संगीत सुने:

these methods will help you to do running easily

विज्ञान इस बात को मानता है कि संगीत के कारण व्यक्ति का मन शांत रहता है और उसका किसी भी काम को ठीक से करने में मन लगता है। रनिंग के समय कई बार  बोरियत महसूस होने लगती है जिसके कारण लोग रनिंग छोड़ तक देते हैं इसलिए रनिंग करते समय अपना मनपसंद संगीत सुनें। [ये भी पढ़ें: इन एक्सरसाइज के साथ करें जिम की शुरुआत]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "