स्ट्रेंथ एक्सरसाइज जिनकी आपको हमेशा जरुरत पड़ेगी

strength exercises that you should do

आप एक हफ्ते में कितने वेट के साथ बेंच प्रेस या बारबेल कर्ल करते हैं वह मायने नहीं रखती हैं क्योंकि कुछ ऐसी स्ट्रेंथ एक्सरसाइज होती हैं जो आपकी मसल्स को पर्याप्त चुनौती प्रदान करते हैं। यह काम कोई और एक्सरसाइज नहीं कर पाती है। इन बॉडीवेट एक्सरसाइज को करने से कई मसल्स ग्रुप एक साथ सक्रिय हो जाते हैं और आपकी मसल्स ग्रोथ को बढ़ाते हैं। सबसे बड़ी खासियत यह है कि आप इन एक्सरसाइज को कभी भी, कहीं भी और किसी भी फिटनेस स्तर के लिए कर सकते हैं। तो आइए आपको इन स्ट्रेंथ एक्सरसाइज के बारे में बताते हैं जो आपको फिट रखने में मदद करती हैं।[ये भी पढ़ें: वर्कआउट के बाद रेस्ट डे के दिन क्या करने से मसल्स जल्दी विकसित होती हैं]

चेयर डिप्स:

यह एक्सरसाइज आपके ट्राइसेप्स और कोर मसल्स को मजबूत बनाने का काम करती है, जिसके लिए आपको एक कुर्सी की जरुरत पड़ेगी। इसका अभ्यास करने के लिए कुर्सी के किनारे पर दोनों हाथों को कंधों के बराबर चौड़ाई से टिका लें और पैरों के तलवों को पूरी तरह जमीन पर टिकाएं रखें। अब कूल्हों को नीचे की तरफ लेकर आएं और कोहनियों के कंधों के बराबर आने पर रुक जाएं। इसके बाद शरीर को वापस शुरूआती पोजीशन में ले जाएं। इस एक्सरसाइज को ज्यादा चुनौतीपूर्ण बनाने के लिए पैरों को थोड़ा ज्यादा आगे की तरफ रखें।

पुश-अप्स:

पुश-अप्स एक पूर्ण शारीरिक एक्सरसाइज है, जो कि छाती, कंधों, ट्राइसेप्स, कमर, कूल्हों और एब्स को मजबूत बनाती है। इसे करने के लिए अपनी हथेलियों को कंधों के ठीक नीचे की तरफ रखें और निचले शरीर का भार दोनों पंजों पर टिका लें। अपनी कमर, कूल्हों और गर्दन को एक सीध में रखें और छाती को जमीन की तरफ लेकर आएं। जमीन के पास आने पर छाती को पीछे की तरफ धकेलें। इस एक्सरसाइज को ज्यादा चुनौतीपूर्ण बनाने के लिए आप डायमंड पुश-अप्स, सुपरमैन पुश-अप्स, क्लाप्पिंग पुश-अप्स आदि का अभ्यास कर सकते हैं। [ये भी पढ़ें: हाई-रैप सर्किट में कौन सी एक्सरसाइज का अभ्यास करना है बेहतर]

स्क्वाट:

निचले शरीर को मजबूत बनाने के लिए स्क्वाट्स काफी महत्वपूर्ण एक्सरसाइज है। यह मुख्यतः आपके ग्लूट, हैमस्ट्रिंग और क्वाड्स मसल्स पर प्रभाव डालती है। इसे करने के लिए पैरों को कमर जितनी चौड़ाई के बराबर खोल लें और घुटनों को पंजों के पीछे रखकर कूल्हों को नीचे की तरफ लेकर आएं। जब आपकी जांघें जमीन के समान्तर आ जाएं तो शरीर को वापस ऊपर की तरफ लेकर जाएं। इस एक्सरसाइज को चुनौतीपूर्ण बनाने के लिए आप सिंगल लेग स्क्वाट्स या वेटेड स्क्वाट्स का अभ्यास भी कर सकते हैं।

प्लैंक:

शारीरिक मजबूती पाने के लिए प्लैंक असरदार एक्सरसाइज होती है। यह आपके एब्स, चेस्ट, फोरआर्म्स और कंधों को मजबूती देती है। इसे करने के लिए सबसे पहले पुश-अप की पोजीशन में आ जाएं और अपनी कोहनियों को कंधों के ठीक नीचे जमीन पर टिका लें। फोरआर्म्स को सामने की तरफ खोलकर रखें और कमर, कूल्हों और जांघों को एक सीध में रखें। अब कुछ देर इसी अवस्था में रुके रहें। इस एक्सरसाइज को चुनौतीपूर्ण बनाने के लिए आप एक पैर को ऊपर की तरफ उठाए भी रख सकते हैं।

पुल-अप्स:

पुल-अप्स आपकी अपर बॉडी के लिए काफी चुनौतीपूर्ण एक्सरसाइज है, जो कि कमर, बाइसेप्स और कंधों पर काफी असर डालती है। इसे करने के लिए एक स्थिर बार को कंधों के बराबर चौड़ाई से पकड़ लें और हाथों की ताकत से शरीर को ऊपर की तरफ खींचें। इस एक्सरसाइज को ज्यादा चुनौतीपूर्ण बनाने के लिए हाथों की स्थिति ज्यादा बाहर रख सकते हैं। [ये भी पढ़ें: फेलडेनराज़ी मेथड क्या है और क्रोनिक पेन दूर करने में कैसे मदद करता है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "