Protein powder: प्रोटीन पाउडर से होने वाले दुष्प्रभाव

Read in English
side effects of protein powder

Protein powder: प्रोटीन पाउडर का सेवन शरीर के लिए हानिकारक होता है

Protein powder: प्रोटीन पाउडर दूध, मक्खन, केसिन और सोया से बने सूखे पाउडर होते हैं। प्रोटीन की आवश्यकता को पूरा करने के लिए लोग प्रोटीन पाउडर का उपभोग करते हैं। अधिकांश फिटनेस उत्साही और पेशेवर बॉडीबिल्डर मांसपेशियों के विकास के लिए पाउडर का उपभोग करते हैं। इसमें ग्लोबुलर प्रोटीन होते हैं जो तरल पदार्थ से बने होते हैं। ये तरल पदार्थ बायोडिग्रेशन के प्रोडक्ट से तैयार किए जाते हैं। ये ग्लोबुलर बॉडी, लाभ से अधिक नुकसान पहुंचाते हैं। हालांकि, एक वर्कआउट रूटीन का पालन करते समय शरीर को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन प्रदान करना अनिवार्य होता है। जब आप वर्कआउट का अभ्यास करते हैं तो शरीर को अधिक प्रोटीन की आवश्यकता होती है। प्रोटीन पाउडर शरीर में प्रोटीन की आवश्यकता को पूरा करता है, लेकिन कुछ दुष्प्रभाव भी पैदा करता है। [ये भी पढ़ें: महिलाओं के लिए सबसे बेहतर प्रोटीन पाउडर कौन सा है]

Protein powder: प्रोटीन पाउडर के साइड इफेक्ट क्या हैं:

  • मुंहासे
  • पोषक तत्वों की कमी हो जाना
  • इन्टेस्टाइनल माइक्रोबायोटा(intestinal microbiota)
  • टॉक्सिक होता है
  • इन्सुलिन के स्तर को बढ़ाता है

मुंहासे:

Protein Powder increase Acne
Protein powder: प्रोटीन पाउडर का सेवन मुंहासों की समस्या को बढ़ाता है

प्रोटीन पाउडर में कई प्रकार के हार्मोन और बायोएक्टिव पेप्टाइड्स होते हैं, जो सीबम में वृद्धि करता है। सीबम की वृद्धि त्वचा पर मुंहासे की समस्या का कारण बनती हैं।  [ये भी पढ़ें: Multani Mitti: मुल्तानी मिट्टी से कैसे कम करें मुंहासें]

पोषक तत्वों की कमी हो जाना:
शरीर में पोषक तत्वों की कमी प्रोटीन पाउडर उपभोग करके हो सकता है। यदि आप अंडे, दूध और मांस जैसे प्राकृतिक प्रोटीन खाद्य पदार्थों का उपभोग करते हैं तो ऐसी समस्या का कम होती है। प्रोटीन पाउडर अधिक प्रोटीन प्रदान करता है जो घनत्व होता है। इसकी खपत पोषक तत्वों की कमी का कारण बन सकता है।  [ये भी पढ़ें: पोषक तत्वों की कमी जिससे आपको एंग्जायटी हो सकती है]

इन्टेस्टाइनल माइक्रोबायोटा(intestinal microbiota):
वे प्रोटीन लैक्टोफेरिन जैसे कुछ यौगिकों का स्रोत होता है। ये यौगिक अडल्ट गट फ्लोरा के जोखिम में वृद्धि करता है। इससे पेट से जुड़ी समस्या हो सकती है और गैस या अपच की समस्याएं भी हो सकती है।  [ये भी पढ़ें: पेट की समस्या होने पर कौन से खाद्य पदार्थ का सेवन ना करें]

टॉक्सिक होता है:
सस्ता प्रोटीन पाउडर जहरीला होता है, जो शरीर के लिए हानिकारक है। यह सिरदर्द, थकान, कब्ज और मांसपेशियों में दर्द का कारण बन सकता है।  [ये भी पढ़ें: आपकी त्वचा के लिए टॉक्सिक हो सकता हैं इन खाद्य पदार्थों का सेवन]

इन्सुलिन के स्तर को बढ़ाता है:
कभी-कभी प्रोटीन पाउडर इंसुलिन स्तर को प्रभावित कर सकता है। वर्कआउट के बाद प्रोटीन पाउडर का उपभोग, इंसुलिन में वृद्धि करता है और नियमित इंसुलिन में यह वृद्धि हानिकारक हो सकता है।

[जरूर पढ़ें: Protein shake: प्रोटीन शेक का सेवन एक्सरसाइज करने के पहले करना चाहिए या बाद में]

प्रोटीन पाउडर की खपत शरीर की आवश्यकता को पूरा कर सकती है लेकिन इसके दुष्प्रभाव भी है। साइड इफेक्ट्स से बचने के लिए, प्राकृतिक प्रोटीन स्रोतों पर ध्यान देना बेहतर है।

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "