वर्कआउट के बाद भी मसल्स ना बनने के पीछे होने वाले कारण

reasons why you are not gaining muscles even after workout

जिम जाकर हर कोई मजबूत और बड़ी मसल्स बनाने की कोशिश करता है, लेकिन बहुत मेहनत के बाद भी कुछ लोगों को नतीजा कुछ नहीं मिलता है। दरअसल इस समस्या के पीछे की वजह उनका वर्कआउट करने और खाने का तरीका होता है, क्योंकि ये वजहें उनकी मसल्स पर सकारात्मक प्रभाव डालने की जगह नकारात्मक प्रभाव डाल रही होती हैं और मसल्स बन नहीं पाती हैं। अगर आप भी अपनी मसल्स को विकसित करना चाहते हैं तो इन चीजों को करना अभी छोड़ दें, आइए जानते हैं कि किन चीजों के कारण वर्कआउट के बाद भी आपकी मसल्स नहीं बन पाती। [ये भी पढ़ें: बारबेल एक्सरसाइज की मदद से बनाएं आकर्षक बैक]

1.मोटे होने के डर से कम खाना: कैलोरी के सेवन से आपके शरीर में फैट जमा होता है, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आप कैलोरी का सेवन बिल्कुल ही बंद कर दें या मोटे होने के डर से बहुत कम खाएं। क्योंकि अगर आप सही तरीके से और नियमित वर्कआउट कर रहे हैं, तो शरीर कैलोरी से बनी ऊर्जा को मसल्स बनाने के लिए इस्तेमाल करता है और आपकी मसल्स बनती है। दूसरी तरफ कम खाने की वजह से आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन तथा पोषण नहीं मिल पाता है।

2.कार्डियो करने का तरीका:
कार्डियो को हर दिन, ज्यादा देर तक या खाली पेट करने से आपकी मसल्स कम होना शुरू कर देती हैं। क्योंकि कार्डियो आपके शरीर से अधिक मात्रा में कैलोरी को बर्न करता है, जिससे आपके शरीर को मसल्स के विकास के लिए जरुरी कैलोरी नहीं मिल पाती है। इसके साथ ही सुबह उठने पर आपका शरीर पहले से ही मसल्स बर्न करने की स्थिति में होता है और कार्डियो करने की वजह से मसल्स तेजी से घटने लगती हैं। [ये भी पढ़ें: मस्कुलर फोरआर्म्स के लिए सबसे प्रभावी एक्सरसाइज]

3.स्प्लिट रूटीन अपनाना: स्प्लिट रूटीन में आप एक वर्कआउट सेशन में एक मसल्स ग्रुप की एक्सरसाइज करते हैं, जैसे छाती, बाइसेप्स, ट्राइसेप्स, बैक आदि। लेकिन ऐसा करना आपकी अन्य मसल्स को वर्कआउट से दूर रखकर कमजोर करता है। इसलिए टोटल बॉडी वर्कआउट या कंपाउंड एक्सरसाइज को करना चाहिए जो एक से अधिक मसल्स ग्रुप के साथ आस-पास की सभी मसल्स को मजबूत और विकसित बनाता है।

4.कभी-कभी खाना: तीन घंटे से ज्यादा देर कुछ ना खाने से आपका मेटाबॉलिज्म धीरे हो जाता है और जब आप कुछ खाते हैं तो वह फैट बनकर आपके शरीर में जम जाता है। इसलिए एक्सरसाइज करने के साथ-साथ अपने शरीर को ज्यादा देर भूखा ना रखें, बल्कि थोड़ी-थोड़ी देर में कुछ खाते रहें। इससे आपका मेटाबॉलिज्म धीरे नहीं होगा और आप जो भी खाएंगे वह फैट बनने की जगह आपकी मसल्स को विकसित करने में काम आएगा।

5.एक ही तरह का वर्कआउट रूटीन:
काफी समय तक एक ही तरह का वर्कआउट रूटीन अपनाने से आपकी मसल्स बढ़ने की जगह कम होने लगती है। क्योंकि आपकी मसल्स को विकसित होने के लिए अतिरिक्त दबाव की जरुरत होती है और एक ही तरह का वर्कआउट करने से मसल्स को उन एक्सरसाइज से होने वाले दबाव की आदत हो जाती है। इसलिए अपने वर्कआउट रूटीन में विविधता लाते रहें। [ये भी पढ़ें: टोटल बॉडी वर्कआउट से मिलने वाले फायदें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "