बच्चों की सेहत सुधारने के लिए अपनाएं ये एक्सरसाइज

keep your children fit through these exercises

आज के समय में टेक्नोलॉजी से घिरे रहने के कारण बच्चे घर के बाहर निकलकर शारीरिक एक्टिविटी नहीं कर पाते हैं जो उनके शारीरिक और मानसिक विकास के लिए हानिकारक हो सकता है। इसलिए माता- पिता या अभिभावक होने के नाते आपका यह फर्ज बनता है कि आप अपने बच्चे को घर के बाहर जाने के लिए प्रेरित करें और शारीरिक एक्टिविटी जैसे- कोई भी आउटडोर गेम, कोई एक्सरसाइज या वर्कआउट आदि करने के लिए प्रोत्साहित करें। बचपन में ही बच्चों को एक्सरसाइज और खेलकूद के लिए प्रोत्साहित करना उनके लिए एक बेहतर भविष्य को तैयार करना हैं। यूनाईटेड स्टेट्स डिपार्टमेंट ऑफ़ हयूमन सर्विस के अनुसार प्रतिदिन करीबन एक घंटे एक्सरसाइज करने से बच्चों का तन और मन दोनों तंदरुस्त रहता है। तो आइए आपको बताते हैं किस उम्र के बच्चे के लिए कौन सी एक्सरसाइज करना अच्छा रहता है।  [ये भी पढ़ें: असरदार तरीके जो बना देंगे रनिंग को आसान]

पांच वर्ष के बच्चों के लिए जरुरी एक्सरसाइज:
keep your children fit through these exercises

इस आयु में बच्चों को एक्सरसाइज के रूप में फुटबॉल, बास्केटबाल जैसा गेम खेलना उनके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत आवश्यक होता है। इसके साथ-साथ जो बच्चे स्वीमिंग करके भी शरीर को काफी फिट रख सकते हैं इसलिए बच्चों के इस तरह के गेम पर खासा जोर दें। इन सभी गेम्स में बच्चे का शरीर पूरी तरह से मूव करता है। इससे बच्चे का शरीर लचीला होगा और बच्चे को बहुत अच्छी नींद भी आती है।

छ: वर्ष से आठ वर्ष के आयु के बच्चों के लिए जरुरी एक्सरसाइज:
keep your children fit through these exercises

इस समय तक आते-आते बच्चे का शारीरिक विकास पूरी तरह से हो चुका होता है इसलिए इस उम्र के बच्चों को जिमनास्टिक एक्टिविटी में भाग लेना शुरु कर देना चाहिए। इसमें वह साइक्लिंग, एथलेटिक और फिटनेस से सम्बंधित एक्टिविटी कर सकते हैं। इसके साथ ही सभी गेम में हिस्सा लेना इस उम्र के बच्चों के शारीरिक विकास के लिए जरुरी होता है जिनमें शरीर का हर भाग मूव करता हो। [ये भी पढ़ें: व्यस्त लोगों के लिए कम समय में की जाने वाली एक्सरसाइज]

नौ वर्ष से ग्यारह वर्ष के आयु के बच्चों के लिए जरुरी एक्सरसाइज:
keep your children fit through these exercises

9 साल की उम्र में आने के बाद बच्चे उन सभी तरह के एक्सरसाइज में हिस्सा ले सकते हैं जिसमें वह किक और पंच का प्रयोग कर सकते हैं। इसके साथ-साथ इस उम्र के बच्चो के लिए तेज दौड़ना-भागना, कबड्डी, खो-खो, कुस्ती आदि जैसे खेल खेलना और एक्टिविटी करना उनके लिए अच्छा होता है। इसके अलावा सुबह-सुबह उठ कर वॉक करना भी ना केवल इस उम्र के बच्चों एक लिए बल्कि सभी उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद होता है।

बारह वर्ष से चौदह वर्ष के आयु के किशोरों के लिए जरुरी एक्सरसाइज:

किशोरावस्था तक पहुंचने के बाद  बच्चे संगठित खेलों की एक्टिविटी से रूचि कम होने लगती है। ऐसे में उनका फोकस मसल्स बिल्डिंग पर अधिक होता है। बच्चे और खासकर लड़के जब भी किशोरावस्था में पहुंचतें हैं तो उनका पूरा ध्यान वेट लिफ्टिंग पर होता है। ऐसे में बैंड और स्ट्रेची ट्यूब एक अच्छा विकल्प माना जाता है। इस आयु में बच्चों को जिम में उन लोगों के साथ जाना चाहिए जिन्हें जिम और उसमे मौजूद मशीनों की सही जानाकारी हो। इस अवस्था में बच्चों को ट्रेडमिल, साइकिलिंग, रनिंग, नॉर्मल वेट लिफ्टिंग जैसे हल्के जिम एक्सरसाइज करना चाहिए।

पंद्रह वर्ष या उससे ज्यादा उम्र के किशोरों के लिए:
keep your children fit through these exercises

जब बच्चे अपनी किशोरावस्था के अंतिम दौर में होते हैं उस समय उनके एक्सरसाइज में बहुत से बदलाव करना जरुरी होता है। इस समय तक आने के बाद वह वेट लिफ्टिंग जैसी एक्सरसाइज को आसानी से कर सकते हैं। इसके साथ-साथ वह जिम के ऐसे एक्सरसाइज कर सकते हैं जिनसे उन्हें किसी भी प्रकार की क्षति ना हो। ऐसे समय में वह पुश-अप्स, क्रंच, प्लांक, कार्डियो जैसे एक्सरसाइज करने के लिए पूरी तरह से तैयार होते हैं। [ये भी पढ़ें: आप जिम जानें की सोच रहें हैं, तो जरूर रखें इन बातों का ध्यान]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "