अपने दिमाग को वर्कआउट करने के लिए कैसे मनाएं

how to make your brain crave for workout

Pic Credit: linda-mccartney-centre.org.uk

आप हर रोज अलार्म घड़ी में अपने उठने का समय सेट करके सोते हैं इस उम्मीद में कि सुबह उठकर आप वर्कआउट और एक्सरसाइज करेंगे ताकि आप खुद को फिट रख सकें। ऐसा सोचना बिल्कुल सही है लेकिन तभी जब आप इस पर अमल भी करें। सुबह के समय हमारा बिस्तर और नींद हमे ज्यादा प्यारी होती है जिसके कारण हर रोज अलार्म बजता तो है लेकिन हम ना चाहते हुए भी उसे बंद करके सो जाते हैं। हालांकि ऐसा करके हम खुद का ही नुकसान कर रहे हैं। तो आइए जानते हैं कि ऐसा क्या करें जिससे आपका दिमाग वर्कआउट करने के लिए मान जाए। [ये भी पढ़ें: पीछे की तरफ दौड़ना आपके लिए ज्यादा फायदेमंद होता है]

बाकी लोग एक्सरसाइज करने के लिए क्यों तैयार रहते हैं:
how to make your brain crave for workoutहम से अधिकतर लोगों का एक दोस्त ऐसा जरुर होता है जिसे अपनी जिम और वर्कआउट से बहुत प्यार होता है। ऐसा क्या है जो उन्हें इस हमेशा एक्सरसाइज करने के लिए तैयार रखता है। इसका जवाब है उनका दिमाग क्योंकि उनका दिमाग जानता है कि एक्सरसाइज और वर्कआउट करने से वो अच्छा महसूस करते हैं जिससे वह हर रोज जिम करते हैं। हमारे दिमाग का मेसोलिंबिक डोपामाइन सिस्टम इस बात का पता करता है कि क्या चीज हमें खुश रखती हैं। जब हमें पता चलता है कि एक्सरसाइज करने से हमें अच्छा महसूस होते हैं तो हम इसे रिपीट करते हैं।

कुछ वर्कआउट बाकी से ज्यादा अच्छे क्यों होते हैं:

how to make your brain crave for workout
Pic Credit: pinterest.se

एक्सपर्ट का मानना है कि कुछ वर्कआउट जैसे साइकिल चलाना, वॉकिंग, स्विमिंग और अन्य कार्डियो वर्कआउट आमतौर पर जिम करने वाले लोगों को पसंद होते हैं। क्या आप जानते हैं क्यों। एंडोर्फिन के कारण। लोग कार्डियो वर्कआउट इसलिए पसंद करते हैं क्योंकि इनके दौरान एंडोर्फिन अधिक मात्रा में रिलीज होते हैं। ये व्यायाम हार्ट रेट को बढ़ाते हैं, एंडोर्फिन और एनकेफ़ेलिन रिसेप्टर को नियंत्रित करते हैं। [ये भी पढ़ें: डेस्क जॉब करने वाले लोग फिट रहने के लिए करें ये एक्सरसाइज]

अपने वर्कआउट के लिए दिमाग को कैसे मनाएं:
जहां तक वर्कआउट के लिए आदत बनाने की बात है तो इसके लिए बहुत प्रयासों की जरुरत होती है लेकिन कुछ चीजों के जरिए आप इस प्रोसेस को तेज कर सकते हैं। आइए जानते हैं आपको क्या करना चाहिए-

  • शुरुआत में वही वर्कआउट करें जो आपको पसंद हो। चाहे फिर यह किकबॉक्सिगं हो या योगा।
  • वर्कआउट को सोशल बनाएं। आप अपने दोस्तों के साथ वर्कआउट करें। इससे एक्सरसाइज करना आपके लिए केवल शारीरिक तौर पर ही नहीं बल्कि समाजिक तौर पर भी दिलचस्प होगा।
  • एक्सरसाइज करते वक्त आप उन सकारात्मक भावनाओं पर फोकस करें जिनका आप अनुभव कर रहे हैं।
  • दिन का कोई एक समय वर्कआउट के लिए निर्धारित करें और प्रतिदिन उसी समय वर्कआउट करें। चाहे फिर सुबह, शाम या दोपहर का समय हो। लेकिन ध्यान रखें कि नियमित रुप से उसी समय वर्कआउट करें।
  • अगर आप हर रोज दिन के निश्चित समय में वर्कआउट करते हैं तो इस तरह आपको जल्दी और आसानी से इसकी आदतहो सकती है और आपका दिमाग इसको जल्दी सीख पाता है। [ये भी पढ़ें: शाहिद कपूर शानदार कंधों के लिए करते हैं ये एक्सरसाइज]
उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "