एक्सरसाइज के बाद मांसपेशियों के दर्द से कैसे छुटकारा पाएं

Read in English
How to get relief muscles soreness after intense workout

जो लोग फिटनेस के लिए बहुत जागरूक रहते हैं उन्हें एक्सरसाइज के लिए अक्सर मांसपेशियों में दर्द की समस्या रहती है। इंटेंसिव वर्कआउट के बाद एक या दो दिन मांसपेशियों में दर्द होना सामान्य बात है। ऐसा तब होता है जब आप एक्सरसाइज की शुरूआत करते हैं या फिर अपने एक्सरसाइज की इंटेंसिटी को बढ़ाते हैं। इस कंडिशन को डिलेड ऑनसेट मसल्स सोरनेस कहते हैं जो मसल्स फाइबर और कनेक्टिव टिशू में हल्के से चोट के कारण होता है। हालांकि ये दर्द बहुत ज्यादा असहनीय नहीं होते हैं लेकिन फिर भी इसकी वजह से लोगों को असहजता महसूस होती है। तो आइए जानते हैं मसल्स सोरनेस से जुड़ी बातें और साथ ही उस समस्या से कैसे निजात पाया जा सकता है। [ये भी पढ़ें: सर्किट ट्रेनिंग करने के फायदे]

मसल्स सोरनेस क्या है?
मसल्स सोरनेस एक कंडीशन है जिसे डिलेड ऑनसेट मसल्स सोरनेस कहा जाता है और ये बहुत सामान्य है। अगर आपने बहुत समय से कोई शारीरिक गतिविधि नहीं कि है या फिर आपने किसी शारीरिक गतिविधि की शुरूआत की है तो वर्कआउट के बाद दर्द होना नॉर्मल है। ये आपको संकेत देता है कि आपकी मांसपेशियों को रिकवर होने के लिए थोड़ा समय चाहिए। अगर आपके शरीर को एक्सरसाइज करने की आदत हो जाती है तो फिर आपको कम या फिर मसल्स सोरनेस बिल्कुल भी नहीं होगी।

कब तक मांसपेशियों में दर्द होता है?
जब आप कोई इंटेंस या फिर नई एक्सरसाइज करते हैं तो आपके मांसपेशियों में होने वाला दर्द 24 से 48 घंटे तक रहता है। लेकिन अगर इतने घंटे के बाद भी आपकी मांसपेशियों का दर्द कम नहीं होता है तो ये आपके लिए इस बात का संकेत है कि आपकी मांसपेशियों में चोट आई है। ऐसे में आपको अपने डॉक्टर से सम्पर्क करने की जरूरत है। [ये भी पढ़ें: बारबेल लिफ्ट एक्सरसाइज के नुकसानों से कैसे बचें]

मांसपेशियों में होने वाले दर्द से कैसे निजात पाएं:

आईस पैक का इस्तेमाल करें:
अगर आपकी मांसपेशियों में होने वाला दर्द बहुत तीव्र है और साथ ही उनमें सूजन भी आ गई है तो आप आईस पैक को एक पतले तौलिए में रखें और 15 मिनट तक उसे प्रभावित हिस्से पर रखें। अगर इसके बावजूद भी आपको राहत नहीं मिलती है तो 15 मिनट तक हीट पैक को भी रख सकते हैं, इससे आपका ब्लड सर्कुलेशन बेहतर हो जाएगा और दर्द से भी राहत मिलेगी।

मसाज करें:
मांसपेशियों में होने वाली दर्द और सूजन को को मसाज की मदद से ठीक किया जा सकता है। तो अगर आपको दर्द या सूजन की समस्या है तो मसाज की मदद से आप इस समस्या से निजात पा सकते हैं।

स्ट्रेचिंग:
वर्कआउट के बाद कम से कम 10 मिनट की स्ट्रेचिंग आपको राहत प्रदान कर सकते हैं। किसी भी एक्सरसाइज या फिर शारीरिक गतिविधि होने के बाद स्ट्रेचिंग आपके लिए एक बेहतर विकल्प होता है। इसमें आपकी मांसपेशियों में खिंचाव आता है जो दर्द से राहत पहुंचाता है।

गर्म पानी से नहाएं:
गर्म पानी से नहाने से आपके टाइट मसल्स ढीले हो जाते हैं और साथ ही आपका ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर हो जाता है। तो इसलिए गर्म पानी से नहाने से कुछ समय के लिए आपके मसल्स में होने वाले दर्द और सूजन से राहत मिलेगी।

लाइट एक्सरसाइज करें:
मसल्स सोरनेस के बाद आप एक्सरसाइज करना ना छोड़ें बल्कि किसी हल्की एक्सरसाइज का अभ्यास करें। वॉकिंग और स्विमिंग जैसे गतिविधि आपके शरीर से लैक्टिक एसिड बिल्डअप को हटाने में मदद करता है और साथ ही आपकी मांसपेशियों में होने वाले दर्द से भी राहत दिलाता है। [ये भी पढ़ें: एक्सरसाइज के दौरान पसीना निकलना जरुरी होता है या नहीं]

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "