रिवर्स प्लैंक की मदद से बनाएं मजबूत कोर और लोवर बॉडी

how reverse plank strengthen your core and lower body

photo credit: runnersfeed.com

शरीर को मजबूत बनाने के लिए प्लैंक एक प्रभावी एक्सरसाइज है। प्लैंक आपकी कोर मसल्स को मजबूत बनाता है और आपका शारीरिक संतुलन भी बेहतर बनाता है। लेकिन प्लैंक करने का एक तरीका रिवर्स प्लैंक भी होता है, जो आपकी कोर मसल्स और लोवर बॉडी को मजबूती प्रदान करता है। यह एक्सरसाइज आपकी कमर पर भी प्रभाव डालती है और इसे करने के लिए शरीर को अतिरिक्त संतुलन बनाना पड़ता है, जिससे आपके शरीर पर ज्यादा प्रभाव पड़ता है। आइये जानते हैं कि रिवर्स प्लैंक करने का सही तरीका क्या है और यह किस तरह कोर मसल्स और लोवर बॉडी को मजबूत बनाता है। [ये भी पढ़ें: हाई इंटेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग के दौरान की जाने वाली गलतियां]

रिवर्स प्लैंक करने के फायदे:

रिवर्स प्लैंक करते हुए शरीर को संतुलन बनाने में ज्यादा मुश्किल होती है, जिससे शरीर अधिक कैलोरी बर्न करता है। यह आपकी कमर और कंधों को साधारण प्लैंक के मुकाबले ज्यादा मजबूती प्रदान करता है। साथ ही यह आपकी हैमस्ट्रिंग, एब्स और ग्लूट मसल्स को ताकतवर बनाती है। अगर आप निचली कमर के दर्द से परेशान रहते हैं, तो यह एक्सरसाइज आपके बहुत काम की है। रिवर्स प्लैंक आपकी निचली कमर की मसल्स को टोंड करती है और उसमें स्थिरता प्रदान करती है।

नियमित अभ्यास के बाद आप इसमें वेटेड वेस्ट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, जिसकी वजह से शरीर को अधिक चुनौती मिलेगी। [ये भी पढ़ें: बॉडी को तुरंत पंप करने के लिए असरदार एक्सरसाइज]

रिवर्स प्लैंक करने का सही तरीका:
1. सबसे पहले जमीन पर बैठ जाएं और अपने पैरों को आगे की तरफ रखें।
2. अपनी कमर को बिल्कुल सीधा रखें और उसे पीछे की तरफ 45 डिग्री के कोण पर ले जाएं।
3. इसके बाद अपने हाथों को कंधों की सीध में पीछे की तरफ रखें और पूरा वजन हथेलियों पर डाल लें।
4. आपके निचले शरीर का भार एडियों पर टिका रहना चाहिए।
5. अब हथेलियों और एडियों की मदद से कूल्हों को ऊपर की तरफ उठाएं और कोर मसल्स को टाइट कर लें।
6. इसी अवस्था में 15-30 सेकिंड तक रहें और आंखों को छत की तरफ रखें।
7. अब धीरे-धीरे अपने शरीर को नीचे की तरफ लेकर आएं।
8. जब आप वापस पहले वाली अवस्था में आ जाएं, तो इस प्रक्रिया को दोबारा दोहराएं।
9. इस एक्सरसाइज को 10-15 बार दोहराएं।
10. आदत पड़ जाने के बाद इस एक्सरसाइज में 30-60 सेकिंड तक रूकने की कोशिश करें। [ये भी पढ़ें: एक्सरसाइज के बारे में कुछ जरुरी फैक्ट]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "