स्वास्थ्य और फिटनेस के ये मिथक जिनपर आपको नहीं करना चाहिए विश्वास

health and fitness myths you should never believe

सभी को फिट रहने का शौक होता है। कई फिटनेस टिप्स हैं जिससे स्वस्थ रहने में मदद मिलती है और आपका लाइफस्टाइल भी स्वस्थ होता है। लेकिन स्वस्थ रहने और फिटनेस के कई मिथक भी होते हैं जो लोगों को पता नहीं होते हैं और उन चीजों को करते रहते हैं। साथ ही वह उन पर विश्वास भी नहीं करते हैं। इससे आपके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंच सकता है। तो आइए आपको इसी तरह के कुछ मिथक के बारे में बताते हैं जिनपर लोग अक्सर विश्वास नहीं करते हैं। [ये भी पढ़ें: जिम छोड़ने के बाद मसल्स अपनी ताकत खोना कब शुरू करती है]

1-ज्यादा एक्सरसाइज बेहतर होता है: बहुत से लोगों को ऐसा लगता है कि अगर वह ज्यादा एक्सरसाइज करेंगे तो इससे वह ज्यादा फिट रहेंगे। मगर अधिक मात्रा में एक्सरसाइज करने से आपके स्वास्थ्य में बाधा आ सकती है। कठिन एक्सरसाइज करने के चक्कर में आप एक्सरसाइज के फायदों के बारे में सोचना भूल जाते हैं।

2-प्रतिदिन अतिरिक्त मात्रा में पानी पीना:
health and fitness myths you should never believeएक्सरसाइज करने के दौरान आपको कितना पानी पीना चाहिए यह परिभाषित नहीं है। यह हर व्यक्ति के लाइफस्टाइल, एक्सरसाइज करने के तरीके पर निर्भर करता है। पानी पीना अच्छा होता है लेकिन शरीर के हिसाब से ज्यादा पानी पीना आपके लिए हानिकारक हो सकता है। [ये भी पढ़ें: इन एक्सरसाइज से बनाएं ग्लूटियस मीडियस को मजबूत]

3-हीटिड वर्कआउट कैलोरी बर्न करने में मदद करते हैं: यह बात सच है कि कठिन परिश्रम करने से कैलोरी बर्न होते हैं। लेकिन पसीने और एक्सरसाइज को कैलोरी से संबंधित करना गलत होता है। आपको ज्यादा इंटेनसिटी वाले वर्कआउट से ज्यादा पसीना आता है मगर इसका मतलब यह नहीं होता है कि आपकी ज्यादा मात्रा में कैलोरी बर्न हो रही हों।

4-क्रंचेज एब्स बनाने के लिए बेस्ट एक्सरसाइज है:
health and fitness myths you should never believeपेट को टोन करने के लिए क्रंचेज एक बेहतर एक्सरसाइज है लेकिन यह बेस्ट नहीं है। वह एक्सरसाइज जो सारी मसल्स पर काम करके पेट को टोन करती हैं वह एक्सरसाइज बेस्ट होती हैं। इसलिए क्रंचेज को बेस्ट नहीं कहा जा सकता है।

5-पतला शरीर फिट होता है: जिन लोगों का शरीर पतला होता है उन्हें अपने फिटनेस लेवल पर काम करने की जरुरत होती है। पतला शरीर अच्छा लगता है मगर वह अंदर से  फिट नहीं होता है। इसका मतलब यह है कि पतले शरीर वाले व्यक्ति को फिट नहीं समझना चाहिए। [ये भी पढ़ें: विटामिन और सप्लीमेंट के मिश्रण से बेहतर बनाएं अपना स्वास्थ्य]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "