बेंच की मदद से कैसे फुल बॉडी वर्कआउट करें

Read in English
get a full body workout with the help of bench

सभी को अच्छी फिजीक और फिट बॉडी चाहिए होती है। शरीर का फिटनेस लेवल आपको आकर्षित बना सकता है। फिटनेस लेवल में सुधार करने के लिए प्रोपर वर्कआउट रुटीन और पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। लेकिन व्यस्त जीवन की वजह से व्यक्ति फिट रहने के आसान से नियमों को फॉलो नहीं कर पाता है। अगर आपके पास जिम में जाकर एक्सरसाइज करने का समय नहीं है तो इसका उपाय भी हमारे पास है। आप एक बेंच की मदद से भी एक्सरसाइज करके फिट रह सकते हैं। तो आइए आपको बताते हैं कि कैसे एक बेंच की मदद से फुल बॉडी वर्कआउट किया जा सकता है। [ये भी पढ़ें: शरीर के लिए रेस्ट-डे क्यों लेना आवश्यक है]

सेट अप्स:

यह एक्सरसाइज शरीर के संतुलन में सुधार करने में मदद करती है। इसके साथ ही यह डेडलिफ्ट और स्क्वाट की स्ट्रेंथ में सुधार करती है। इस एक्सरसाइज को करने के लिए अपने बाएं पैर को बेंच पर और दाएं को जमीन पर रखें। उसके बाद दाएं पैर को ऊपर बेंच पर लेकर आएं। उसके बाद पैर को नीचे ले जाते हुए पुरानी पोजीशन में वापिस आ जाएं। इसके अच्छे परिणाम के लिए 15 स्टेप दाएं पैर से और 15 स्टेप बाएं पैर से करें।

ट्राइसेप्स डिप+ टो टच:

इस एक्सरसाइज को करने के लिए शरीर को आगे की तरफ रखते हुए बेंच के किनारे पर अपने दोनों हाथों को रखें। उसके बाद अपने कूल्हों को नीचे की तरफ जाएं। उसके बाद शरीर को ऊपर की तरफ लेकर आएं और दाएं पैर से किक करके बाएं हाथ से पंजे को टच करें। उसके बाद बाएं पैर से भी ऐसे ही करें। [ये भी पढ़ें: बिना मेहनत किए कैसे करें फैट बर्न]

स्टेप अप + रिवर्स लंज:

इस एक्सरसाइज को करने के लिए अपने दाएं पैर को बेंच पर रखें और बाएं पैर को जमीन पर रखें। अब दाएं पैर को पुश करते हुए बाएं पैर को ऊपर की तरफ लेकर जाएं। इसके बाद बाएं पैर को नीचे लेकर आएं और घुटने को नीचे मोड़ते हुए रिवर्स लंज करें। इसी तरह से दूसरे पैर से भी करें।

रिवर्स माउंटेन क्लाइबर:

इसे करने के लिए प्लैंक पोजीशन में आ जाएं इस दौरान आपके पैर बेंच पर होने चाहिए। इसके बाद दाएं घुटने को बायीं कोहनी की तरफ टिव्स्ट करें। इसी तरह से दूसरे पैर से भी करें।

एब पुल-इन:

सहज तरीके से बेंच पर बैठ जांए और हाथों को कूल्हों के पास रखें। इसके बाद घुटनों को टोरसो की तरफ लेकर आएं जैसे आप क्रंच करते हैं। इसे 60 सेकेंड तक रिपीट करें ताकि एक सेट पूरा हो जाए। [ये भी पढ़ें: पुल-अप एक्सरसाइज करते वक्त की जाने वाली आम गलतियां]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "