टीआरएक्स बैंड की मदद से करें फुल बॉडी वर्कआउट

Read in English
full body workout with the help of trx band

टीआरएक्स बैंड एक्सरसाइज करने से शरीर को फिट और स्वस्थ रख सकते हैं। टीआरएक्स बैंड की मदद से एक्सरसाइज करने पर शरीर की सभी मसल्स एक्सरसाइज में व्यस्त रहती हैं, जिससे संपूर्ण मजबूती के साथ कार्डियोवस्कुलर स्वास्थ्य भी सुधारता है। टीआरएक्स एक्सरसाइज शरीर का वजन इस्तेमाल करके मसल्स पर प्रभाव डालती है और आपके फिटनेस लक्ष्य को हासिल करने में मदद करती है। टीआरएक्स बैंड वर्कआउट मसल्स बनाने के साथ वजन कम करने के लिए भी की जा सकती है। आइए जानते हैं कि टीआरएक्स बैंड वर्कआउट में कौन सी एक्सरसाइज की जा सकती हैं। [ये भी पढ़ें: मजबूत पैरों के लिए असरदार बॉडीवेट एक्सरसाइज]

1.टीआरएक्स बैलेंस लंज:

टीआरएक्स बैलेंस लंज पैरों को मजबूत बनाने के लिए प्रभावी एक्सरसाइज है। इसे करने के लिए टीआरएक्स बैंड के हैंडल को पकड़ें और एक पैर को पीछे ले जाते हुए लंज करें। अब पिछले पैर को आगे लेकर आएं और दूसरे पैर से लंज करें। इस एक्सरसाइज में संतुलन बनाने के लिए टीआरएक्स बैंड का इस्तेमाल करें। इस एक्सरसाइज के 12-15 रैप के 3 सेट्स करें।

2.टीआरएक्स हाई रो तो एक्सटर्नल रोटेशन:

यह एक्सरसाइज एक समय पर कई मसल्स पर असर डालती है। इससे आपके फोरआर्म्स और बाइसेप्स मजबूत बनते हैं। इसे करने के लिए टीआरएक्स बैंड को छाती के बराबर सेट करें और हैंडल पकड़कर शरीर को पीछे की तरफ झुकाएं। शरीर को पीछे ले जाते हुए हाथों को सीधा रखें और सीधा होने के लिए हाथों को रोटेट करें। इस एक्सरसाइज के 10-12 रैप के 2 सेट्स करें। [ये भी पढ़ें: आकर्षक ऑब्लिक मसल्स पाने के लिए प्रभावी एक्सरसाइज]

3.टीआरएक्स चेस्ट प्रेस:

टीआरएक्स चेस्ट प्रेस आपकी छाती को मजबूत बनाकर उभारने में मदद करती है। इसे करने के लिए टीआरएक्स हैंडल को पकड़कर शरीर को नीचे की तरफ झुकाएं और पुश-अप्स करें। इस एक्सरसाइज के बेहतर प्रभाव के लिए आपका शारीरिक संतुलन अच्छा होना चाहिए। इसके 12-15 रैप के 3 सेट्स करें।

4.टीआरएक्स प्लैंक:

इस एक्सरसाइज के द्वारा आपकी कोर मसल्स मजबूत बनती है और शरीर का लचीलापन और संतुलन बढ़ता है। टीआरएक्स प्लैंक एक्सरसाइज को करने के लिए टीआरएक्स बैंड के हैंडल में पैरों को फंसाएं और फोरआर्म्स पर शरीर का भार डालें। एक्सरसाइज करते हुए आपके पैर, कूल्हें और कमर एक सीध में होने चाहिए। इसी अवस्था में कुछ देर रहें। [ये भी पढ़ें: डेडलिफ्ट से जुड़ी गलतियां जिन्हें दोहराना नहीं चाहिए]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "