बाइसेप्स बनाते वक्त की जानें वाली गलतियां जिसे आप करते हैं नजरअंदाज

Read in English
biceps training mistakes that you should avoid vk

बाइसेप्स एक्सरसाइज आपके जिम रूटिन की सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। उभरे हुए बाइसेप्स एक मजबूत हाथ की ओर इशारा करते हैं। मजबूत हाथ आपको अन्य तरह के एक्सरसाइज करने में मदद करते हैं। जिम जाने वाले लोग ज्यादातर बाईसेप्स एक्सरसाइज करते हैं और अक्सर कुछ छोटी-छोटी गलतियां करते है जिसकी वजह से बाइसेप्स बनाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है या उनके चोटिल होने की संभावना भी बढ़ जाती है। आइए जानते हैं इन गलितयों के बारे में जो अक्सर बाइसेप्स बनाते वक्त लोग करते हैं। [ये भी पढ़ें: सुबह-सुबह खाली पेट पानी पीने के फायदे]

पूरी तरह से फोकस नहीं होना: किसी भी काम को करने के लिए पूरी तरह से उस काम पर एकाग्र होना जरुरी है। तभी हम उस काम को अच्छे से कर पाते हैं। यही नियम जिम जाते समय भी लागू होता है। जिस समय आप बाइसेप्स के लिए एक्सरसाइज कर रहे हैं अपना पूरा का पूरा ध्यान सिर्फ और सिर्फ बाइसेप्स के लिए किए जाने वाले एक्सरसाइज पर दें। इससे आपका एक माइंडसेट बनेगा और सही तरीके से आप अपने बाइसेप्स में उभार आता देख पायेगें।

अपने ट्राइसेप्स को नजरअंदाज करना: अपने दिमाग में एक बात डाल लें कि हाथों के सभी मसल्स में बाइसेप्स सिर्फ और सिर्फ एक तिहाई हिस्सा है। बाकि का दो तिहाई हिस्सा जिसकी मदद से ही आप एक मजबूत आर्म्स पाते हैं, उसे कई बार नजरअंदाज कर देते हैं जिसके कारण भी बाइसेप्स बनाने के दौरान समस्याएं होने लगती है। इस दो तिहाई में ट्राइसेप्स आते हैं, जिसके बिना बाइसेप्स को सही सेप नहीं मिल पाता है। [ये भी पढ़ें: कुर्सी पर बैठे-बैठे करें ये आसान एक्सरसाइज]

पूरी तरह से वार्मिंग नहीं करना: जिम जाने से पहले या किसी भी तरह के एक्सरसाइज करने से पहले वर्मअप करना बेहद जरुरी होता है। एक बात ये भी जान लें कि वार्मअप का मतलब कार्डियो नहीं होता है। किसी भी तरह के वर्कआउट करने से पहले वार्मअप उस वर्कआउट और बेहतर रूप से करने की क्षमता को बढ़ा देता है। यदि आप भी बाइसेप्स से पहले वार्मअप न करने की गलती कर रहें हैं तो इस तरह की गलती ना दोहराएं। बाइसेप्स के लिए किये जाने वाले एक्सरसाइज से वार्मअप जरुर करें।

कम वजन में ज्यादा रेप्स करना ऐसा जरुरी नहीं है कि आपके शरीर की क्षमता वजन उठाने के मामले में बाकियों से ज्यादा है तो आप कम वजन वाले डम्बल को जरुरत से ज्यादा उठायेंगे। हर किसी के शरीर की अपनी एक क्षमता होती है, उसी आधार पर कोई भी व्यक्ति अपने रेप्स का निर्धारण करता है। लेकिन ऐसा करना कई बार ठीक नहीं होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि यदि आप जरूरत से ज्यादा रेप्स करने लगते हैं तो इससे बाइसेप्स जल्दी तो नहीं बनते हैं लेकिन इससे नुकसान होने पूरी-पूरी संभावना होती है। बाइसेप्स के लिए एक स्टैण्डर्ड निर्धारित होता है। जिसमे 8 से 12 रेप्स को ही सही माना गया है। शुरुआत में इस संख्या में ही बाइसेप्स के लिए वजन को उठाएं और फिर समय के साथ बढ़ाएं।

एक्सरसाइज को नियम बद्ध तरीके से नहीं करना: बाइसेप्स बनाते वक्त बहुत से लोग इस तरह की गलतियां करते है, इसमें वह सभी तरह के एक्सरसाइज न करके एक ही तरह के एक्सरसाइज को ज्यादा से ज्यादा करने लगते हैं। जिसका बुरा प्रभाव देखने को मिलता है। इसलिए बाइसेप्स के लिए किये जाने वाले एक्सरसाइज को एक नियम बद्ध तरीके से और एक अंतराल पर करना चाहिए। [ये भी पढ़ें: इन एक्सरसाइज की मदद से बनाए शानदार और मजबूत बैक]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "