शानदार मसल्स बनाने के लिए जरुरी मशीन एक्सरसाइज

Read in English
best machine exercise for mascular body

बॉडीबिल्डिंग करने वाले लोग अधिकतर बारबेल और डंबल के साथ एक्सरसाइज करते हैं और मशीन एक्सरसाइज को नजरअंदाज कर देते हैं। जबकि मशीन के साथ एक्सरसाइज करना कई मायनों में बेहतर है। इससे आपकी लक्षित मसल्स पर सीधा प्रभाव पड़ता है और चोटिल होने की आशंका भी कम हो जाती है। मशीन के साथ एक्सरसाइज करने से आपकी मसल्स पर एक्सरसाइज की शुरुआत से आखिर तक बराबर तनाव पड़ता है, जिससे मसल्स ज्यादा मजबूत और बड़ी बनती हैं। जब साथ देने के लिए आपके साथ कोई जिम पार्टनर नहीं हो, तो मशीन के साथ एक्सरसाइज करना ज्यादा सुरक्षित होता है। आइए जानते हैं कि कौन सी मशीन एक्सरसाइज करके अपनी मसल्स को शानदार बनाया जा सकता है। [ये भी पढ़ें: बाहर दौड़ना या ट्रेडमिल पर दौड़ना: जानें क्या है बेहतर]

1.पेक-डेक फ्लाई:

पेक-डेक फ्लाई को इस्तेमाल करने से पहले मशीन पर बैठकर हाथों की आरामदायक स्थिति को जांच लें और यह भी देख लें कि किस स्थिति में आपकी छाती की पेक्स मसल्स पर प्रभाव पड़ेगा। साथ ही इसमें पीछे स्टैक पर लगे वेट को उठाने के लिए गुरुत्वाकर्षण के खिलाफ अपनी ताकत का इस्तेमाल करना पड़ता है और मसल्स मजबूत बनती है। इसे करने के लिए मशीन पर बैठकर दोनों हैंडल को हाथों से आसपास लेकर आएं।

2.लैट पुल-डाउन:

लैट पुल-डाउन आपकी कमर की लैट्स मसल्स को मजबूत बनाती है और इसमें आपके शरीर का पोश्चर भी ठीक रहता है। इसे करने के लिए आप लैट्स पुल-डाउन मशीन पर बैठकर कंधों के बराबर चौड़ाई से बार को पकड़ें और कमर को पीछे की तरफ थोड़ा मोड़कर बार को छाती की तरफ लेकर आएं। लैट पुल-डाउन मशीन की मदद से आप प्रभाव को सिर्फ कमर पर ही रख सकते हैं। [ये भी पढ़ें: एक्सरसाइज जो चेहरे से फैट हटाने में करती हैं मदद]

3.मशीन क्रंच:

बॉडीवेट क्रंच करते हुए आपके शरीर का ऊपरी हिस्सा पूरी तरह उठ नहीं पाता है, जिससे मसल्स पर अधूरा प्रभाव पड़ता है। जबकि मशीन क्रंच करने से आपकी एब्स मसल्स पर सीधा प्रभाव पड़ता है और कोर मसल्स पर बराबर तनाव पड़ता है। साथ ही आपके शरीर का ऊपरी हिस्सा पूरी तरह ऊपर उठ पाता है और पोश्चर ठीक रहता है।

4.मशीन कर्ल:

मशीन कर्ल से आपके बाइसेप्स की मसल्स पर बारबेल की अपेक्षा ज्यादा प्रभाव पड़ता है। क्योंकि इसमें आपके हाथों को बारबेल संभालने के लिए ताकत का इस्तेमाल नहीं करना पड़ता, बल्कि अपनी सारी ताकत को वेट उठाने में इस्तेमाल किया जा सकता है। [ये भी पढ़ें: मेडिसिन बॉल एक्सरसाइज की मदद से बनाएं शानदार एब्स]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "