कंधों की डेल्ट मसल्स को शानदार बनाने के लिए एक्सरसाइज

Read in English
best exercise to build delts muscles

photo credit: bodybuilding.com

शरीर के ऊपरी हिस्से की सभी एक्सरसाइज में कंधों की अहम भूमिका होती है। इसके आकर और मजबूती की वजह से यह आपकी पर्सनालिटी को भी आकर्षक बनाता है। मजबूत कंधों से वर्कआउट में आपका प्रदर्शन बेहतर बनता है और अच्छे नतीजे प्राप्त होते हैं। कंधों की शेप उनकी डेल्ट मसल्स पर काफी हद तक निर्भर करती है। डेल्ट मसल्स को बड़ा और मजबूत बनाने के लिए कुछ जरुरी एक्सरसाइज हैं, जिन्हें अपनाकर आप भी अपने कंधों को ऊंचा और बड़ा बना सकते हैं और साथ ही अपनी पर्सनालिटी को निखार सकते हैं। [ये भी पढ़ें: बाइसेप्स और ट्राइसेप्स का साइज बढ़ाने के लिए अपनाएं ये कंपाउंड एक्सरसाइज]

1.स्टैंडिंग डंबल प्रेस:

बैठने की जगह खड़े होकर डंबल प्रेस करना बेहतर माना जाता है। हालांकि इसमें बैठकर की जाने वाली डंबल प्रेस के मुकाबले कम वेट उठाया जाता है, लेकिन खड़े होकर कंधों पर ज्यादा दबाव पड़ता है। डेल्ट मसल्स को बड़ा करने के लिए यह सबसे असरदार एक्सरसाइज है। इससे पेक्टोरिअल मेजर, डेल्ट्स, ट्राइसेप्स मसल्स पर प्रभाव पड़ता है।

2.प्रोन रिवर्स फ्लाई:

प्रोन रिवर्स फ्लाई बेंच पर उल्टा लेटकर की जाती है। इसमें मशीन से ज्यादा बेहतर नतीजे मिलते हैं। जिससे रियर डेल्ट मसल्स को मजबूती मिलती है। इसे करने के लिए बेंच पर उल्टा लेटकर अपने हाथों में डंबल लीजिए और अपनी छाती के सामने रखें। अब अपने हाथों को कंधों के बराबर लेकर आएं। इसमें अपने हाथों की पोजीशन को एक जैसा रखें। [ये भी पढ़ें: ये खास एक्सरसाइज कंधों को सही शेप में मजबूत बनाती हैं]

3.बेंट-ओवर रिवर्स फ्लाई:

प्रोन रिवर्स फ्लाई की तरह बेंट-ओवर रिवर्स फ्लाई भी बहुत प्रभावी एक्सरसाइज है, जो सीधा डेल्ट मसल्स पर असर डालती है। यह एक्सरसाइज अपने वर्कआउट रूटीन के सबसे आखिर में करने से बेहतर परिणाम मिलते हैं। इसे करने के लिए खड़े होकर अपने कमर को जमीन के सामानांतर करें। फिर अपने हाथों से डंबल को कंधों के बराबर लेकर आएं।

4.लेटरल रेज विद केटलबेल:

साधारण डंबल रेज के मुकाबले ज्यादा जल्दी नतीजे पाने के लिए आप केटलबेल का इस्तेमाल करें। यह आपके कंधों पर ज्यादा प्रभाव छोड़ती है। इसे करने के लिए बिल्कुल सीधे खड़े हो जाएं और अपने हाथों में केटलबेल पकड़कर उसे अपने कंधों के बराबर लेकर आएं। अब इसी अवस्था में एक सेकिंड रूकें और हाथों को वापस ले आएं। [ये भी पढ़ें: काफ मसल्स को मजबूत बनाती हैं ये एक्सरसाइज]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "