सर्किट ट्रेनिंग करने के फायदे

amazing benefits of circuit training

सर्किट ट्रेनिंग के अंतर्गत एंड्यूरैंस ट्रेनिंग और स्ट्रेंथ ट्रेनिंग आती हैं, जिसमें मसल्स की ताकत के साथ-साथ मजबूती को भी बढ़ाया जाता है। फिटनेस प्राप्त करने के लिए सबका अपना एक अलग तरीका होता है, कोई एंड्यूरैंस ट्रेनिंग को महत्व देता है तो कोई स्ट्रेंथ ट्रेनिंग को महत्व देता है। लेकिन सर्किट ट्रेनिंग का अभ्यास करने से आपको इन दोनों वर्कआउट का लाभ प्राप्त होता है। इसके साथ ही सर्किट ट्रेनिंग का अभ्यास करने से आपको कई फायदे मिलते हैं, तो उन फायदों के बारे में जानते हैं। [ये भी पढ़ें: सोने से पहले एक्सरसाइज करना सही है या गलत]

सर्किट ट्रेनिंग क्या है?
amazing benefits of circuit training सर्किट ट्रेनिंग के अन्दर आपको मसल्स की मजबूती और ताकत बढ़ाने के लिए एक्सरसाइज करनी होती है। यह ट्रेनिंग मीडियम इंटेंसिटी लेवल की होती है और इसमें आपको विभिन्न मसल्स ग्रुप के लिए एक्सरसाइज करनी होती है। एक्सरसाइज करते हुए आपको कम से कम आराम लेना होता है।

कम समय में ज्यादा फायदा: अगर बॉडी बिल्डिंग क्षेत्र में काम करने वालों को छोड़ दिया जाए तो किसी के पास जिम करने के लिए घंटो-घंटों का समय नहीं होता है। इसलिए ऐसे लोगों के लिए सर्किट ट्रेनिंग काफी फायदेमंद रास्ता है। इसमें आप कम से कम समय में ज्यादा एक्सरसाइज करते हैं, जिसकी वजह से आपका काफी समय बच जाता है। [ये भी पढ़ें: बारबेल लिफ्ट एक्सरसाइज के नुकसानों से कैसे बचें]

शरीर को चुनौती मिलती है: सर्किट ट्रेनिंग करते हुए आपके शरीर को अधिक चुनौती मिलती है। इसमें आपकी मसल्स को पर्याप्त दबाव मिलता है और शरीर की मेजर और माइनर मसल्स एक साथ मजबूत बनती हैं।

फैट बर्निंग:
amazing benefits of circuit training सर्किट ट्रेनिंग का सबसे बड़ा फायदा है कि अगर आप वजन कम करना चाहते हैं, तो यह आपके 1 घंटे के वर्कआउट के बराबर कैलोरी 20 मिनट में बर्न कर सकता है। इसमें हाई इंटेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग और हैवी वेट लिफ्टिंग एक्सरसाइज शामिल होती हैं।

बोरियत को दूर करता है:
amazing benefits of circuit training अगर आप वही पुराना वर्कआउट रूटीन करते हुए बोरियत महसूस करने लगे हैं, तो सर्किट ट्रेनिंग इस समस्या को दूर कर सकता है। इसमें शामिल एक्सरसाइज काफी मनोरंजक होती हैं, जिसकी वजह से आपको बोरियत नहीं होती।

हृदय स्वास्थ्य सुधरता है: एक्सरसाइज को तेज गति से करने पर आपकी हृदय गति सुधरती है, जिससे शरीर में रक्त-प्रवाह तेज होता है। हृदय गति सुधरने से हृदय स्वास्थ्य भी सुधरता है और आप ज्यादा फिट बनते हैं। [ये भी पढ़ें: एयर कंडीशनर वाली जगह पर वर्कआउट क्यों नहीं करना चाहिए]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "