हार्मोन असंतुलन के कारण होने वाले मुंहासों को कम करने के टिप्स

Tips to reduce acne due to hormonal imbalances

मुंहासे चेहरे की खूबसूरती छीन लेते हैं। धूल, धूप, प्रदूषण, गंदगी आदि के दुष्प्रभाव के कारण त्वचा पर मुंहासे पैदा हो जाते हैं जिन्हें आसान घरेलू उपायों की मदद से ठीक किया जा सकता है लेकिन मुंहासें होने का एक दूसरा कारण हार्मोन्स का बैलेंस ना होना भी होता है। किशोरावस्था, पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम आदि के कारण हार्मोन्स के स्तर में बदलाव पैदा होता है और मुंहासें होने की समस्या पैदा हो जाती है। हार्मोन्स बैलेंस ना होने के कारण सीबेशियस ग्रंथि अति सक्रिय होकर त्वचा पर ज्यादा तेल पैदा करती है जिससे त्वचा पर तेजी से मुंहासे पैदा होते है। आइए जानते हैं कि हार्मोन्स बैलेंस ना होने के कारण होने वाले मुंहासों की समस्या को कम करने के लिए ब्यूटी टिप्स के बारे में। [ये भी पढ़ें: सूरजमुखी के तेल से त्वचा के लिए कैसे है फायदेमंद]

1.ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन करें: ओमेगा-3 फैटी एसिड टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम करता है। टेस्टोस्टेरोन का जरुरत से ज्यादा स्राव त्वचा पर मुंहासें पैदा कर देता है इसलिए ओमेगा-3 फैटी एसिड युक्त खाद्य पदार्थों को अपनी डाइट में शामिल करें जिससे हार्मोन्स बैलेंस ना होने के कारण होने वाले मुंहासों की समस्या से निजात मिलती है।

2. टी-ट्री ऑयल: टी-ट्री ऑयल में एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण होते हैं जो कि मुंहासों की सूजन को कम करके उन्हें खत्म करने में मदद करते हैं। टी-ट्री ऑयल की कुछ बूंदों को नारियल के तेल के साथ मिलाकर चेहरे पर लगाने से चेहरा खूबसूरत बनता है। [ये भी पढ़ें: पैरों की देखभाल कैसे करें]

3. ग्रीन टी: ग्रीन टी में मौजूद एंजाइम्स भी पुरुष हार्मोन का स्तर कम करते हैं और हार्मोन्स बैलेंस को सही करने में मदद करते हैं। इसलिए दिन में 2 कप ग्रीन टी पीना स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है और मुंहासों को कम करने में मदद करता है। ग्रीन टी से बने फेसमास्क को चेहरे पर लगाने से भी ये मुंहासे खत्म करने में मदद मिलती है।

4. दालचीनी और शहद: दाल चीनी और शहद दोनों में ही एंटी-इंफ्लेमेंट्री और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। हर प्रकार के मुंहासों को खत्म करने के लिए दालचीनी और शहद से बने फेसपैक काफी कारगर होते हैं। दालचीनी और शहद के पेस्ट को 15-20 मिनट तक चेहरे पर लगाकर 20 मिनट बाद ठंडे पानी से धो लें। इससे हार्मोन्स बैलेंस ना होने के कारण होने वाले मुंहासों की समस्या से निजात मिलती है।

5.अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड: अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड प्लांट एसिड होते हैं जो कि सिट्रस फ्रूट होते हैं। ये चेहरे से अतिरिक्त तेल और मृत कोशिकाओं को खत्म करने के में मदद करते हैं और बंद रोमछिद्रों को खोलने में मदद करते हैं। इसलिए अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड युक्त लोशन या क्रीम का इस्तेमाल करें और खाद्य पदार्थों का सेवन करें ।[ ये भी पढ़ें: त्वचा पर ब्लैकहेड्स होने से रोकने के उपाय]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "