Ayurveda Skin Care: हर प्रकार की त्वचा के लिए आयुर्वेदिक फेस मास्क

Read in English
Natural DIY Ayurveda Face masks for different skin types

आयुर्वेद स्किन केयर बेदाग और चमकती त्वचा पाने में मदद करता है।

Ayurveda Skin Care: हर इंसान की त्वचा अलग होती है। त्वचा कई प्रकारी की हो सकती है जैसे सामान्य त्वचा, तैलीय त्वचा, शुष्क त्वचा, कॉम्बिनेशन स्किन और संवेदनशील त्वचा। त्वचा का प्रकार अलग होने के कारण लोगों को अलग स्किन केयर रुटीन अपनाना होता है। हर तरह की त्वचा के लिए उचित पोषण, क्लिंजिग, एक्सफोलिएशन और टोनिंग की आवश्यकता होती है। यह त्वचा से मृत कोशिकाओं को हटाने और चमकदार त्वचा वापस पाने में मदद करता है। ग्लोइंग और रेडिएंट स्किन पाने के लिए आयुर्वेद के पास हर तरह की त्वचा के लिए कुछ प्राकृतिक फेस मास्क हैं। इसके अलावा, मुंहासों और पिंपल्स से प्रभावित त्वचा के लिए अलग फेस मास्क मौजूद हैं। आइए जानते हैं हर तरह की त्वचा के लिए प्राकृतिक फेस मास्क कैसे बनाएं। [ये भी पढ़ें: चेहरे को बेदाग बनाने के लिए लगाएं आयुर्वेदिक फेसमास्क]

Ayurveda beauty tips: हर प्रकार की त्वचा के लिए आयुर्वेदिक फेस मास्क

  • रुखी त्वचा के लिए
  • सामान्य त्वचा के लिए
  • तैलीय त्वचा के लिए
  • मुंहासों और पिंपल्स प्रभावित त्वचा के लिए

शुष्क त्वचा के लिए
सीबम के कम उत्पादन के कारण त्वचा शुष्क हो जाती है। इससे त्वचा डिहाइड्रेटेड हो जाती है साथ ही चेहरे पर फाइन लाइन्स और झुर्रियां हो सकती हैं। यदि आपकी त्वचा शुष्क है, तो आप थोड़े संतरे का जूस के साथ पपीता का जूस मिलाएं। अब इसमें थोड़ी दही मिला लें। इसके बाद, त्वचा को मॉइस्चराइज करने के लिए ग्लिसरीन की कुछ बूंदें, अखरोट का तेल और जैतून का तेल मिलाएं। सभी चीजें अच्छी तरह से मिलाकर इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं। [ये भी पढ़ें: आपकी शुष्क त्वचा के पीछे हो सकती हैं ये स्वास्थ्य समस्याएं]

सामान्य त्वचा के लिए

Ayurvedic Face Packs For Glowing Skin
आयुर्वेद फेस मास्क ग्लोइंग और फ्रेश त्वचा पाने में मदद करता है।

जिनकी त्वचा सामान्य है, उनकी त्वचा ना तो बहुत शुष्क होती है और ना ही बहुत तैलीय। सामान्य त्वचा के लिए एक बाउल में आड़ू और दलिया मिलाएं। आड़ू को पहले ठीक से पका लें और मैश कर लें। इसमें थोड़ा शहद मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और इसे 15 मिनट तक छोड़ दें। इसके बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

तैलीय त्वचा के लिए
जिनकी त्वता तैलीय है, वो अक्सर त्वचा पर मुंहासे और पिंपल्स होने की शिकायत करते हैं। उनकी त्वचा सीबम का अधिक उत्पादन करती है। तैलीय त्वचा के लिए आप थोड़ी मुल्टीनी मिट्टी और चंदन पाउडर लें। इसमें गुलाब जल मिलाकर पेस्ट बनाएं। इस फेस मास्क को एंटीफंगल बनाने के लिए आप कुछ तुलसी की पत्तियां भी मिला सकते हैं। यह बैक्टीरिया इंफेक्शन से त्वचा को बचाता है। इस फेस मास्क को चेहरे पर लगाएं। यह मास्क तैलीय त्वचा, मुँहासे और त्वचा की मृत कोशिकाओं से छुटकारा पाने में मदद करता है। [ये भी पढ़ें: तैलीय त्वचा के लिए घर पर ही बनाएं स्क्रब]

मुंहासों और पिंपल्स प्रभावित त्वचा के लिए

Ayurveda Face Masks for a clear skin
प्राकृतिक आयुर्वेदिक फेस मास्क त्वचा पर पिंपल्स से छुटकारा पाने में मदद करते हैं।

यदि आपकी त्वचा पर मुंहासे या पिंपल्स अधिक होते हैं, तो यह तैलीय त्वचा और बैक्टीरिया की वजह से हो सकता है। इससे छुटकारा पाने के लिए पानी में नीम और तुलसी की कुछ पत्तियां उबालें। इसका पेस्ट बनाएं और इसमें हल्दी मिलाएं। अब इसमें गुलाब जल मिलाएं और इसे फेस मास्क के रूप में उपयोग करें। चेहरे पर लगाकर 15 मिनट तक रखें और फिर चेहरा ठंडे पानी से धो लें।

[जरुर पढ़ें: निखरी त्वचा के लिए करें आयुर्वेदिक फेस पैक का इस्तेमाल]

ये हर प्रकार की त्वचा के लिए सबसे अच्छे आयुर्वेद फेस मास्क हैं। आप इन्हें आज़मा सकते हैं और अपनी त्वचा पर फर्क देख सकते हैं। आप इस लेख को इंग्लिश में भी पढ़ सकते हैं।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "