खास तरीके जो स्किन को डिटॉक्स करने में मदद करते हैं

Read in English
Detoxifying Beauty Rituals Everyone Should Adopt

अपनी त्वचा को लेकर सब बहुत जागरूक रहते हैं। तरह-तरह के तरीके अपनाते हैं जिससे उनकी त्वचा में निखार आए और रूखापन दूर हो जाए। इसके लिए वो कई प्रयत्न करते हैं ताकि उनकी त्वचा पर होने वाले दाग-धब्बे, पींपल्स और मुंहासे खत्म हो जाए। लेकिन कई ऐसे प्रोडक्ट्स होते हैं जिनकी वजह से त्वचा की समस्याएं कम होने के बजाय बढ़ जाती है। उनमें पाए जाने वाले केमिकल त्वचा को नुकसान पहुंचाते हैं और उनकी नमी खत्म कर देते हैं। पोषक तत्वों वाले खाद्य पदार्थ या फिर अपनी दिनचर्या में सुधार लाकर आप अफनी त्वचा को स्वस्थ और निखरी बनाकर सकते हैं। आइए जानते हैं कुछ ऐसे तरीके होते हैं जिनकी मदद से आप अपनी त्वचा को डिटॉक्स कर सकते हैं। [ये भी पढ़ें: ग्रूमिंग के वक्त की जाने वाली गलतियां जिनके कारण लड़कियां आपसे दूर भागती हैं]

अपने मेकअप ब्रश को साफ करना ना भूलें:
मेकअप लगाने से पहले हमेशा अपने मेकअप ब्रश को जरूर साफ कर लें क्योंकि उनमें होने वाली गंदगी आपकी त्वचा को प्रभावित कर सकती है। ब्रश में होने वाली गंदगी आपके त्वचा के पोर्स में जम जाते हैं और त्वचा से जुड़ी समस्याओं का कारण बनते हैं। तो इसलिए ब्रश को हमेशा साफ कर रखें।

सही स्किनकेयर प्रोडक्ट्स का चुनाव करें:
जब भी आप मेकअप प्रोडक्ट्स का चुनाव करते हैं तो आपको ध्यान रखना चाहिए कि उनमें क्या-क्या तत्व है। कभी भी आंख बंद कर के मेकअप प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल ना करें। हमेशा उनके एक्सपायरी डेट का भी ध्यान रखें वरना आपकी त्वचा को नुकसान पहुंच सकता है। [ये भी पढ़ें: सर्दियों में त्वचा को रुखेपन से बचाने के लिए उपयोगी खाद्य पदार्थ]

प्राकृतिक तत्वों का इस्तेमाल करें:
अगर आप अपनी त्वचा को डिटॉक्स करना चाहते हैं तो प्राकृतिक तत्वों का इस्तेमाल करना आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। ये आपकी त्वचा को एक्सफोलिएट करते हैं और बंद पोर्स को खोलते हैं। चीनी, नींबू और शहद की मदद से आप अपनी त्वचा को एक्सफोलिएट कर सकते हैं।

स्किनकेयर रूटीन को बनाएं रखें:
रोजाना अपने स्किनकेयर प्रोडक्ट्स को ना बदलें वरना ये आपकी त्वचा को प्रभावित कर सकता है। कोशिश करें कि एक ही प्रोडक्ट का इस्तेमाल करें और अपनी स्किनकेयर रूटीन का भी पालन करें। अगर आप अपने प्रोडक्ट को हमेशा बदलते रहेंगे तो इससे रिएक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है।

क्लिंजिंग, टोनिंग और मॉइस्चराइजिंग करें:
हमेशा अपनी त्वचा को क्लिंजिंग, टोनिंग और मॉइस्चराइजिंग करें। ये आपकी त्वचा पर होने वाली गंदगी को साफ करता है और साथ ही त्वचा को इंफेक्शन होने भी बचाता है। इसके अलावा ये टोनर की तरह काम करता है और आपकी त्वचा के पीएच के स्तर को संतुलित करता है। [ये भी पढ़ें: सर्दियों में सनस्क्रीन का इस्तेमाल क्यों करना चाहिए]

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "