चेहरे पर झाइयां होने के क्या कारण होते हैं

Causes of pigmentation

त्वचा पर झाइंया पड़ने के कई कारण हो सकते हैं

झाइयां(पिग्मेंटेशन) चेहरे की खूबसूरती को छीन लेती हैं। एक बार त्वचा पर झाइयां पड़ने के बाद इन्हें हटाना आसान नहीं होता है। चेहरे पर झाइयों को छुपाने के लिए आप बहुत सारे कॉस्मेटिक्स का इस्तेमाल करते हैं। झाइयों को खत्म करने के लिए आप कॉस्मेटिक्स, घरेलू उपाय और स्किन ट्रीटमेंट का इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि चेहरे पर ये झाइयां पड़ने के क्या कारण होते हैं। त्वचा शरीर का सबसे बड़ा अंग है और शरीर में यदि कोई भी परेशानी होती है तो उसका पहला असर त्वचा पर दिखता है। झाइयां भी शरीर में किसी अस्वस्थतता का संकेत होती है। आइए जानते हैं कि चेहरे पर झाइयां होने के क्या कारण होते हैं। [ये भी पढ़ें: माथे पर होने वाली झुर्रियों को कैसे कम करें]

संभावित कारण जिनसे चेहरे पर झाइयां हो सकती हैं

  • धूप के कारण
  • हार्मोन्स में बदलाव
  • तनाव
  • त्वचा का डैमेज होना
  • त्वचा संबंधी बीमारियों के कारण

1.धूप के कारण-
तेज धूप त्वचा को नुकसान पहुंचाती है। इससे सिर्फ टैनिंग ही नहीं बल्कि झाइयां होने का भी खतरा रहता है। सूर्य की यूवी किरणों के बुरे प्रभाव से बचाने के लिए शरीर जिन हार्मोन्स का स्राव करता है उससे त्वचा संबंधी कई बीमारियां हो सकती हैं। कोशिकाओं में मेलेनोसाइटिस के एक्टिव होने के कारण मेलानिना का उत्पादन बढ़ जाता है जिससे त्वचा पर झाइयां पैदा हो जाती है। इसलिए तेज धूप में जाने से बचना चाहिए।

2. हार्मोन्स में बदलाव-
गर्भावस्था के दौरान हार्मोन्स में परिवर्तन होते हैं जिससे चेहरे पर झाइयां पड़ जाती हैं। गर्भावस्था के दौरान मेलानिन हार्मोन का उत्पादन अधिक होता है जिससे त्वचा पर झाइयां होने का खतरा अधिक हो जाता है। हार्मोन्स का संतुलन बनाए रखने के लिए आप किन हर्ब्स का सेवन कर सकते हैं जानने के लिए क्लिक करें।

3.तनाव-

Causes of Hyperpigmentation
तनाव भी पिग्मेंटेशन का मुख्य कारण होता है

तनाव के कारण बहुत सारी स्वास्थ्य समस्याएं पैदा होने के साथ-साथ चेहरे पर झाइयां भी पड़ने लगती हैं। तनाव के कारण मेलानिन हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है जिससे चेहरे पर झाइयां पड़ जाती हैं इसलिए तनाव को कम करने की कोशिश करें।

4. त्वचा का डैमेज होना-

त्वचा के कटने से लेकर एक पिंपल होने तक सभी चीजें मेलानिन के स्तर को बढ़ा देती है। जब भी आपकी त्वचा पर डैमेज होता है तो आपकी त्वचा एक इंफ्लेमेंट्री रिएक्शन करती है। जिससे मेलासाइटिस कोशिकाएं सक्रिय हो जाती हैं और मेलानिन का उत्पादन बढ़ जाता है। मेलानिन का उत्पादन बढ़ने से त्वचा पर झाइयां पड़ जाती है।

5.त्वचा संबंधी बीमारियों के कारण –

Causes of pigmentation
चेहरे पर मुंहासे भी पिग्मेंटेशन का कारण हो सकते हैं

त्वचा संबंधी बीमारियां जैसे एक्जिमा, मुंहासे, सनबर्न और त्वचा की सर्जरी के कारण भी त्वचा पर पिग्मेंटेशन हो जाता है। इसलिए स्वस्थ रहें और हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं जिससे आपकी त्वचा स्वस्थ और खूबसूरत बनी रहें। [ये भी पढ़ें: ब्यूटी टूल्स जिनका इस्तेमाल हानिकारक हो सकता है]

त्वचा को पिग्मेंटेशन से बचाने के लिए हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं जिससे आपकी त्वचा स्वस्थ और खूबसूरत बनी रहें। इस आर्टिकल को इंग्लिश में पढ़ने के लिए क्लिक करें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "