Ayurvedic Treatments for White Hair: सफेद बालों से निजात पाने के लिए आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट

Ayurvedic Remedies for White Hair

Photo Credit: farmaciiledona.ro Ayurvedic Treatments for White Hair: सफेद बालों की समस्या को कैसे दूर करें

Ayurvedic Treatments for White Hair: सफेद बालों की समस्या एक परेशानी का कारण होती है, खासतौर पर कम उम्र में अगर ऐसी समस्या हो जाए तो यह एक बड़ी बात होती है। अस्वस्थ खान-पान, पेट की समस्या, अनुवांशियकता या फिर खराब दिनचर्या होने की वजह से लोगों के बाल समय से पहले सफेद होने लगते हैं। इसके अलावा अधिक हेयर केयर प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल के कारण भी बाल समय से पहले सफेद होने लगते हैं। ऐसे में यदि आप स्वस्थ तरीके से अपने सफेद बालों की समस्या को कम करना चाहते हैं तो आप आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये ट्रीटमेंट आपके बालों को स्वस्थ रखते हैं और जड़ों को पोषण भी प्रदान करते हैं। इसके अलावा स्कैल्प में ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर करते हैं। [ये भी पढ़ें: Saffron For Grey Hair: सफेद बालों से निजात पाने के लिए केसर]

Ayurvedic Treatments for White Hair: कैसे अपने सफेद बालों की समस्या को कम करें

  • नारियल तेल और करी पत्ता
  • आंवला और नारियल तेल
  • करी पत्ता और छाछ
  • तिल का तेल और गाजर का तेल

नारियल तेल और करी पत्ता:
एक पैन में कुछ करी पत्ता और 4 चम्मच नारियल तेल डालें और उसे थोड़ी देर उबालें। फिर इस मिश्रण को ठंडा होने के लिए छोड़ दें। ठंडा होने पर हल्के हाथों से इस मिश्रण को बालों और स्कैल्प पर 15 मिनट तक मसाज करें और रातभर छोड़ दें। सुबह में सल्फेट-फ्री शैंपू से बालों को धो लें। इस प्रक्रिया को सप्ताह में 2-3 बार करें।

फायदें: करी पत्ता और नारियल तेल में विटामिन्स और मिनरल्स उच्च मात्रा में होता है जो हेयर फॉलिकल्स को पोषण प्रदान करता है।

आंवला और नारियल तेल:

Amla to stop white hair problems
Ayurvedic Treatments for White Hair: आंवला और नारियल तेल सफेद बाल को कम करते हैं

एक पैन में सूखे आंवला और 4 चम्मच नारियल तेल डालकर 15 मिनट तक उबालें। अब इस मिश्रण को ठंडा होने के लिए छोड़ दें और फिर हल्के हाथों के बालों और स्कैल्प पर लगाएं। रातभर छोड़ दें और अगली सुबह शैंपू से धो लें या फिर 30 मिनट गर्म तौलिए से बालों को कवर कर के छोड़ दें और फिर बाल धो लें। इस प्रक्रिया को सप्ताह में 2-3 बार करें।

फायदें: आंवला और नारियल तेल में विटामिन-सी होता है जो हेयर फॉलिकल्स में मौजूद मेलानिन की रक्षा करता है और बालों को सफेद होने से बचाता है।

करी पत्ता और छाछ:
करी पत्ता और छाछ को ब्लेंड कर लें और इस पेस्ट को पूरे बालों पर लगा लें। अब बालों को शॉवर कैप से कवर कर लें और 30 मिनट तक छोड़ दें। फिर सल्फेट-फ्री शैंपू से धो लें। इस प्रक्रिया को सप्ताह में 2-3 बार करें।

फायदें: करी पत्ता और छाछ फॉलिकल्स के पिगमेंट की रक्षा करता है और बालों की कंडीशनिंग करता है।

तिल का तेल और गाजर का तेल:
4 बड़ा चम्मच तिल का तेल और 2 चम्मच गाजर के तेल को मिलाएं और इससे बालों पर मसाज करें। रातभर छोड़ दें और अगली सुबह सल्फेट-फ्री शैंपू से धो लें। इस प्रक्रिया को सप्ताह में 2-3 बार करें।

फायदें: तिल के तेल और गाजर के तेल में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन्स होते हैं जो बालों की सफेदी को कम करते हैं।  [ये भी पढ़ें: henna for hair: सफेद बालों के लिए कैसे लगाएं मेहंदी]

सफेद बालों की समस्या को दूर करने के लिए आप कुछ आसान आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये आपके बालों को स्वस्थ भी रखता है।

 

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "