रूखी त्वचा को सही करने के लिए आयुर्वेदिक उपचार

Read in English
ayurvedic treatment for dry skin

रूखी त्वचा की समस्या आजकल सामान्य बात हो गई है, जो कि किसी भी उम्र के लोगों को हो सकती है। वातावरण में बढ़ती धूल-मिट्टी और प्रदूषण की वजह से त्वचा अपना पोषण खो देती है और रूखी बन जाती है और खुजली व त्वचा की परत उतरने जैसी समस्या होने लग जाती है। लेकिन हमारे आयुर्वेद में रूखी त्वचा को सही करने के लिए कई उपचार बताए गए हैं जो चेहरे की त्वचा को फिर से पोषण देकर जवान और खूबसूरत बनाते हैं। आइए जानते हैं कि रूखी त्वचा को सही करने के लिए आयुर्वेद में कौन से उपचार बताए गए हैं। [ये भी पढ़ें: कैस्टर ऑयल की मदद से करें डैंड्रफ का सफाया]

1.गेंदा: गेंदे के फूल में कई प्राकृतिक फ्लेवेनॉइड और जरुरी तेल होते हैं जो हमारी त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए जरुरी होते हैं। इसके लिए गेंदे के फूल की पत्तियों को मिलाकर एक पेस्ट बना लें और अपने चेहरे पर लगाकर सूखने के लिए छोड़ दें। आप हल्के गर्म पानी से भी चेहरा धो सकते हैं।

2.पपीता:
ayurvedic treatment for dry skinपपीते में विटामिन ए पाया जाता है जो हमारी त्वचा को रूखा बनने से बचाता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए पके हुए पपीते का गूदा निकालकर चेहरे पर हल्के हाथ से मसाज करें। चेहरे पर पपीते का इस्तेमाल रोजाना किया जा सकता है, क्योंकि यह त्वचा पर कोई दुष्प्रभाव नहीं डालता है। [ये भी पढ़ें: बालों को स्वस्थ रखने के लिए नहाते समय रखें कुछ बातों का ध्यान]

3.एलोवेरा: एलोवेरा आपकी त्वचा और बालों के लिए रामबाण इलाज है, जो आपकी त्वचा को नमी देकर रूखा होने से बचाता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए एलोवेरा के अंदरूनी हिस्से को त्वचा पर मलें और थोड़ी देर सूखने के बाद पानी से धो लें।

4.केला और शहद: केले और शहद का मिश्रण रूखी त्वचा को जड़ से खत्म करके त्वचा को जवान बनाता है। इसे इस्तेमाल करने के लिए दो चम्मच पिसा हुआ केला और एक चम्मच शहद को मिलाकर चेहरे पर 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर पानी से धोलें। कुछ ही हफ़्तों में आपका चेहरा फिर से खिल उठेगा।

5.चंदन पेस्ट: चंदन के अन्दर प्राकृतिक तेल होता है जो आपकी त्वचा का रूखापन दूर करता है। चंदन और गुलाबजल को मिलाकर एक पेस्ट बना लें और चेहरे की मृत कोशिकाओं पर लगाएं। कुछ दिनों में ही आपके चेहरे की त्वचा से रूखापन दूर हो जाएगा।

6.खीरा और टमाटर: खीरे और टमाटर में पानी की मात्रा होती है, जो आपकी त्वचा में सीबम ऑयल के उत्पादन को बढ़ाता है। इससे आपकी त्वचा हाइड्रेट होती है और पोषण मिलने से रूखापन दूर होता है। [ये भी पढ़ें: मुंहासों को दूर करने के लिए हाइड्रोजन परॉक्साइड का इस्तेमाल कैसे करें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "