निखरी त्वचा के लिए करें आयुर्वेदिक फेस पैक का इस्तेमाल

Ayurvedic face pack for glowing skin

आयुर्वेद से त्वचा की समस्या को दूर करने का एक सबसे पुराना उपाय है। आयुर्वेद के प्रोडक्ट फल, सब्जी, प्राकृतिक हर्ब के बने हुए होते हैं। यह त्वचा से मुंहासे, झुर्रियां, दाग धब्बे हटाने में मदद करता है। आयुर्वेद त्वचा को निखारने के लिए सबसे उपयोगी और सफल उपाय है साथ ही त्वचा को स्वस्थ रखने में भी मदद करता है। कुछ आयुर्वेद फेस पैक का इस्तेमाल करके त्वचा को निखारा जा सकता है। आइए आपको इन फेस पैक के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: बालों को समस्याओं को दूर करने के लिए करें मेयोनीज का इस्तेमाल]

1-मैरीगोल्ड फेस पैक: मैरीगोल्ड या गेंदे का फूल त्वचा के लिए फायदेमंद होता है। इसके लिए फूल का पेस्ट बना लें और उसमें कच्चा दूध और एक चम्मच शहद मिलाएं। उसके बाद यह पेस्ट चेहरे पर लगाएं और इसे 10-15 मिनट तक लगे रहने दें। इसके बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें। इस पैक में एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो त्वचा पर मुहांसों को हटाने में मदद करते हैं। इस पैक का इस्तेमाल हफ्ते में 1-2 बार करने से रोमछिद्र छोटे होते हैं जिससे त्वचा पर निखार आता है। यह ऑयली त्वचा के लिए फायदेमंद होता है।

2-हल्दी और बेसन पैक: निखरी त्वचा के यह सबसे आम आयुर्वेदिक फेस पैक है। इसके लिए 4 चम्मच बेसन और आधा चम्मच हल्दी पाउडर लें। आप इसमें मलाई भी मिला सकते हैं। इसे चेहरे पर लगाएं और 10-15 मिनट तक लगे रहने दें। हफ्ते में एक बार इसका इस्तेमाल करने से त्वचा में निखार आता है। [ये भी पढ़ें: निखरी त्वचा के लिए करें अनार से बने इन फेस मास्क का इस्तेमाल]

3-चंदन मास्क: इस पैक को बनाने के लिए चंदन के पाउडर का इस्तेमाल करें। सबसे पहले चंदन के पाउडर या गुलाब जल मिलाकर फेस पैक बना लें। अब इस फेस पैक को चेहरे पर लगाकर 10-15 मिनट तक लगे रहने दें। 15 मिनट बाद से पानी से धो लें। यह मास्क चेहरे से मुंहासें हटाकर निखार लाने में मदद करता है। इस मास्क हा हफ्ते में 5-6 बार इस्तेमाल करें।

4-आयुर्वेदिक स्क्रब: आयुर्वेदिक स्क्रब भी चेहरे को निखारने में मदद करता है। इसे बनाने के लिए चावल का आटा और चंदन का पाउडर लें। अब इसमें आधा चम्मच मिल्क पाउडर और एक चम्मच बेसन के साथ गुलाब जल मिलाएं। इस पेस्ट से चेहरे पर स्क्रब करें। हफ्ते में 1-2 बार इस स्क्रब का इस्तेमाल करने से चेहरे पर निखार आता है। [ये भी पढ़ें: प्याज का जूस करता है बालों के बढ़ने में मदद]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "